अमृतसर, जेएनएन। पूर्व क्रिकेटर और पंजाब के पूर्व कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू 18 दिन बाद वीरवार को अपनी काेठी से बाहर आए और आम लोगाें के बीच पहुंचे। कैप्‍टन अमरिंदर सिंह की सरकार से इस्‍तीफा स्‍वीकार किए जाने के बाद 18 दिनों से सिद्धू यहां होली सिटी स्थित अपने आवास में दरबार लगा रहे थे। वीरवार को सिद्धू लाव लश्‍कर के साथ अपने अपने विधानसभा हलके अमृतसर पूर्वी में उतरे। लोगों के बीच वह खास अंदाज में नजर आए।

सिद्धू ने अमृतसर पूर्वी में लगने वाली 18 हजार एलईडी लाइटों का उद्घाटन वेरका स्थित गुरुद्वारा नानकसर साहिब में पहली लाइट लगाकर किया। बता दें कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ चले लंबे विवाद के बाद सिद्धू ने कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया था। लंबे समय तक फील्ड से गायब रहे सिद्धू 21 जुलाई को अमृतसर पहुंचे, लेकिन इसके बाद भी चुप्पी साधे रखी।

नवजोत सिद्धू वीरवार को सबसे पहले गुरुद्वारा नानकसर वेरका पहुंचे। 18 दिनों तक अपनी कोठी में रहने के बाद आज पहली बार वह अपने विधानसभा हलके में निकले। सिद्धू ने स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत विधानसभा हलका पूर्वी में लगने वाली 13000 स्ट्रीट लाइट प्वाइंटों  का गुरद्वारा साहिब के बाहर पहली लाइट लगाकर शुभारंभ किया। वैसे सिद्धू मीडिया से आज भी दूरी बनाए रखी। सुरक्षा कर्मियों ने मीडिया वालों को पास नहीं फटकने दिया। लोगों को भी वह दूर से ही हाथ हिलाते हुए सुरक्षा के घेरे में वहां से रवाना हो गए।

स्मार्ट सिटी के तहत किए गए स्ट्रीट लाइट के उद्घाटन में मेयर सहित नगर निगम के कमिश्नर और कोई बड़ा अधिकारी नहीं पहुंचा। निगम के एसई अलावा कांग्रेस के स्थानीय नेताओं ने भी दूरी बनाए रखी। सिर्फ सिद्धू से जुड़े विधानसभा हलका पूर्वी के पार्षद और स्थानीय नेता है मौके पर हाजिर रहे।

इसके बाद सिद्धू ने मोहन नगर क्षेत्र का दौरा भी किया और वहां गंदे नाले की सफाई का काम शुरू करवाया। सिद्धू ने गाड़ी में बैठ कर ही लोगों की समस्याएं सुनीं और कड़े सुरक्षा घेरे के बीच मीडिया को पास नहीं जाने दिया। विधायक बनने के बाद पहली बार क्षेत्र में पहुंचे सिद्धू ने लोगों को विश्वास दिलाया कि तीन माह में उनकी समस्याओं का समाधान हो जाएगा।

यह भी पढ़ें: पंजाब भाजपा के वरिष्‍ठ नेता का दावा- BJP में आना चाहते हैं सिद्धू, लेकिन पार्टी ने मना कर दिया

बता दें कि पिछले 18 दिनों से वह अपने विधानसभा हलके के पार्षदों, नेताओं व कार्यकर्ताओं के साथ अपने आवास पर ही मुलाकात कर रहे थे। वह अधिकारियों को भी अपने क्षेत्र में कामकाज के बारे में निर्देश दे रहे थे। लेकिन, इस दौरान उन्‍होंने मीडिया से दूरी बनाई हुई थी और यह वीरवार को भी जारी रहा।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!