लखनऊ, जेएनएन। अयोध्या में रामजन्भूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद प्रदेश में जिस तरह शांति-व्यवस्था कायम रखी गई, उसकी सराहना राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने भी की है। उन्होंने मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी और डीजीपी ओपी सिंह को पत्र लिखकर केंद्र सरकार से समन्वय व पुलिस की मुस्तैदी की सराहना की है। 

अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद नौ नवंबर को पुलिस ने अन्य सुरक्षा एजेंसियों के साथ बेहतर तालमेल के साथ रामनगरी समेत पूरे उत्तर प्रदेश में चप्पे-चप्पे पर शांति-व्यवस्था सुनिश्चित कराई थी। खासकर सोशल मीडिया पर कड़ी निगरानी रखी गई थी और लगातार की गई कसरत का नतीजा रहा कि कहीं कोई छिटपुट घटना भी नहीं हुई। प्रशासन व पुलिस के अधिकारियों से लेकर कर्मियों की सक्रियता व तत्परता की हर स्तर पर सराहना की जा रही है। डीजीपी ओपी सिंह ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल का आभार व्यक्त किया है।

बता दें कि 9 नवंबर, 2019 को चीफ जस्टिस रंजन गगोई की अध्यक्षता में सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ के पांच जजों ने एकमत से फैसला दिया था कि अयोध्या में विवादित भूमि पर राम मंदिर बनेगा। इसके लिए तीन महीने के अंदर एक ट्रस्ट बनाया जाएगा, जो मंदिर बनाने के तौर-तरीके तय करेगी। सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा था कि मुस्लिमों को मस्जिद बनाने के लिए दूसरी जमीन दी जाएगी। उसने कहा कि मस्जिद बनाने के लिए मुस्लिम पक्ष को पांच एकड़ जमीन दी जाएगी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस