पटना [अमित आलोक]। राष्ट्रीय जनता दल (RJD) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के बेटे तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) व ऐश्वर्या राय (Aishwarya Rai) के तलाक (Divorce) मामले में दोनों परिवारों का झगड़ा अब भाषा के निचले स्तर पर गिरता दिख रहा है। बीते दिनों ऐश्वर्या के पिता ने अपनी समधन राबड़ी देवी (Rabri Devi) के लिए आपत्तिजतनक शब्‍दों का इस्‍तेमाल किया तो लालू की बेटी व राज्ययसभा सांसद मीसा भारती (Misa Bharti) ने ऐश्वर्या के पिता चंद्रिका राय (Chandrika Rai) के संस्कार पर सवाल उठाए। साथ ही कहा है कि उनका व उनके पूरे परिवार का मानसिक संतुलन बिगड़ गया है। इसपर चंद्रिका राय ने मीसा को झूठ बोलने वाली बता दिया।

इस बीच लालू प्रसाद यादव व चंद्रिका राय के परिवारों के झगड़े के बीच लालू परिवार की बहू ऐश्‍वर्या राय के सामान सड़क पर पड़े हैं। ऐश्‍वर्या की सास राबड़ी देवी ने ये सामान बहू के मायके भेजा है, जिसे लेने से ऐश्‍वर्या के पिता चंद्रिका राय ने इनकार कर दिया है। ये सामान फिलहाल पटना के शास्‍त्रीनगर थाने में पड़े हैं।

शादी के छह महीने के भीतर ही तलाक का मुकदमा

लालू प्रसाद यादव ने बेटे तेज प्रताप यादव की शादी धूमधाम से की थी। उस वक्त उन्होंने बहू ऐश्वर्या राय की तारीफ में कसीदे गढ़े थे। कहा था कि घर में 'लक्ष्मीनिया' बहू आई है। फिर, पति तेज प्रताप संग ऐश्वर्या की वो तस्वीेर भी वायरल हो गई थी, जिसमें दोनों एक साथ साइकिल पर सवारी करते दिखे थे। दोनों के जीवन में सबकुछ ठीक लग रहा था कि अचानक एक दिन भूचाल आ गया। तेज प्रताप ने शादी के छह महीने के भीतर ही तलाक का मुकदमा दायर कर दिया।

घर छोड़ अलग रहने लगे तेज प्रताप

तलाक के इस हाई प्रोफाइल मामले के शुरुआती दौर में ऐसा लगा कि तेज प्रताप को परिवार का समर्थन नहीं मिल रहा है। नाराज तेज प्रताप ने पिता लालू से रोते हुए मुलाकत की और घर छोड़ मथुरा-वृंदावन की राह पकड़ ली। इसके बाद वे तलाक की सुनवाई के दिन ही पटना लौटे, लेकिन कभी घर नहीं गए। तब से तेज प्रताप अपनी मां राबड़ी देवी का घर छोड़कर अलग बंगले में रहने लगे हैं। इस बीच बहू ऐश्वर्या अपनी सास राबड़ी देवी के सरकारी आवास में ही रहीं। बताया जाता है कि तेज प्रताप की शर्त थी कि वे तब तक मां के बंगले में नहीं लौटेंगे, जबतक ऐश्वर्या वहां से जाएंगी नहीं।

खूब चले आरोप-प्रत्यारोप के दौर

लेकिन घटनाक्रम ने बीते 16 दिसंबर को नया मोड़ लिया। ऐश्वर्या राय अचानक बदहवास अवस्था में घर से बाहर रोते हुए दिखीं। तत्काल उनके पिता चंद्रिका राय सहित मायके का परिवार भी पहुंच गया। वहां हुए हाई वोल्टेज ड्रामा के दौरान चंद्रिका राय ने लालू परिवार के खिलाफ अनेक संगीन आरोप लगाए। आगे 26 दिसंबर की रात तो राबड़ी देवी ने ऐश्वर्या के कमरे का ताला तोड़कर सारे सामान उनके मायके भिजवा दिया। इसपर फिर आरोप-प्रत्यारोप का दौर चला।

चंद्रिका ने समधन को कहा 'जाहिल'

बीते 16 दिसंबर को राबड़ी देवी द्वारा बहू ऐश्वर्या राय को अपने आवास से निकाल दिए जाने पर ऐश्वर्या के पिता व आरजेडी नेता चंद्रिका राय ने अपनी समधन राबड़ी देवी को 'जाहिल' तक कह डाला था। उन्होंने कहा था कि लालू परिवार में बेटी की शादी करना उनकी बड़ी गलती थी। दामाद तेज प्रताप के लिए भी उन्होंने कड़े शब्दों  का इस्तेामाल किया।

हालांकि, लालू परिवार ने ऐश्वर्या को घर से निकालने से इनकार किया। घटना के वक्त मौजूद आरजेडी एमएलए शक्ति सिंह यादव की मानें तो ऐश्वार्या ने ही राबड़ी देवी पर हमला किया।

चंद्रिका राय के खिलाफ साटे गए पोस्टर

इस घटना के पीछे पटना विश्वविद्यालय में साटे गए वो पर्चे रहे, जिनमें तेज प्रताप यादव को सीधा-सादा आदमी बताते हुए चंद्रिका राय व उनकी पत्नी  पूर्णिमा राय (Purnima Rai) के लिए आपत्तिजनक बातें लिखी गईं थीं। बताया जाता है कि इसकी जानकारी मिलने पर जब ऐेश्वर्या राय अपनी सास राबड़ी देवी से यह कहने गईं कि उनके झगड़े में मां-बाप को क्यों  घसीटा जा रहा, बात बिगड़ गई। स्पदष्ट है, ऐश्वर्या मानती हैं कि पटना विश्वविद्यालय में साटे गए आपत्तिजनक पर्चे का लालू परिवार से कनेक्शन है।

अपने पिता के घर रह रहीं ऐश्‍वर्या

लालू परिवार द्वारा घर से निकाले जाने के बाद ऐश्वर्या राय ने भी अपनी सास राबड़ी देवी, पति तेज प्रताप यादव तथा ननद मीसा भारती के खिलाफ प्रताड़ना का मुकदमा दर्ज करा दिया। इसके बाद से वे अपने पिता चंद्रिका राय के पटना स्थित सरकारी आवास पर रह रहीं हैं।

खरी-खोटी सुनाई, कहा- दर्ज की एफआइआर

घटनाक्रम में नया मोड़ गुरुवार कर रात तब आया, जब राबड़ी देवी ने ऐश्वर्या राय के सामान अपने घर से निकालकर जबरन चंद्रिका राय के घर भेजने की कोशिश की। चंद्रिका राय ने बताया कि उन्‍होंने इन सामानों को लेने से इनकार करते हुए इस मामले में राबड़ी देवी के खिलाफ एफआइआर दर्ज करा दी है। इस घटना से भड़के चंद्रिका राय ने फिर लालू परिवार को खूब खरी-खोटी सुनाई। लालू परिवार के लिए सवाल किया कि आखिर उन्होंने समझ क्या  लिया है? सामान भेजना ही था तो पहले सूचना देकर दंडाधिकारी की मौजूदगी में कानूनी तरीके से भेजे जाते। चंद्रिका राय ने लालू परिवार पर चोरी का आरोप भी लगा दिया। बोले कि ऐश्वर्या के बहुमूल्य सामानों की चोरी कर ली गई है।

मीसा बोलीं: चंद्रिका का मानसिक संतुलन बिगड़ा

चंद्रिका राय के आरोपों का जवाब देने के लिए लालू परिवार की तरफ से मीसा भारती सामने आईं। एक निजी टीवी चैनल से बातचीत के दौरान उन्‍होंने स्‍वीकार किया दोनों परिवारों में बातचीत तक बंद है। मीसा ने अपनी मां राबड़ी देवी के लिए 'जाहिल' शब्द का उपयोग करने का जिक्र करते हुए चंद्रिका राय व उनके परिवार का मानसिक संतुलन बिगड़ जाने तक की बात कह डाली। कहा कि चंद्रिका राय की राजनीतिक जमीन खिसक गई है, इसलिए सस्तीो लोकप्रियता हासिल करने के लिए वे लालू परिवार पर बेवजह आरोप लगा रहे हैं।

मीसा भारती ने कहा कि ऐश्वर्या की मां पूर्णिमा राय ने सामान वापस करने की मांग की थी, जिसके आधार पर महिला हेल्प।लाइन ने पत्र लिखा था। इसी कारण सामान वापस किए गए।

चंद्रिका ने मीसा पर लगाया झूठ बोलने का आरोप

इसके बाद मीसा के आरोपों पर चंद्रिका राय ने भी मुंह खोला। उन्होंने मीसा को झूठी तक करार दे दिया। बोले कि मीसा भारती गलतबयानी कर रहीं हैं। उन्होंने कहा कि महिला हेल्पलाइन के जिस पत्र का हवाला देकर सामान भेजे गए उसमें राबड़ी देवी से सामान वापसी में सहयोग का आग्रह किया है,  ताकि आगे की कार्रवाई हो सके। पत्र में सामान भेजने का निर्देश नहीं है। 

परिवार के झगड़े में सड़क पर पड़े बहू के समान

बहरहाल, राबड़ी देवी द्वारा भेजे गए ऐश्‍वर्या के समान कहां रहेंगे, इसका फैसला अभी नहीं हो सका है। इस बीच तीनों से सामान लदे वाहन लगाकर चंद्रिका राय के घर के बाहर बैठे चालकों को चंद्रिका राय के समर्थकों ने खदेड़कर भगा दिया है। उधर, पुलिस ने भी थाने में सामान रखने से हाथ खड़े कर दिए हैं। दोनों चालक सामान लदे वाहन के साथ शास्त्रीनगर थाने में हैं। ऐसे में लालू परिवार के झगड़ा तो सड़क पर है ही, घर की बहू के सामान भी सड़क पर पड़े हैं।

 

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस