Move to Jagran APP

Pratapgarh Weather: अचानक बदला मौसम, आंधी-तूफान के साथ बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त; गर्मी व उमस से थोड़ी राहत

Pratapgarh Weather मई माह के प्रारंभ से ही गर्मी ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया था। रविवार को सुबह से ही चिलचिलाती धूप में लोगों का घर से निकलना मुश्किल हो गया था। दोपहर के बाद चालू हुई पुरवा हवाओं और आसमान में छाए बादलों ने लोगों को काफी राहत दी। कुंडा लालगंज व रानीगंज क्षेत्र में 15 से 20 मिनट तक ऐसा ही मौसम रहा।

By Ramesh Tripathi Edited By: Riya Pandey Sun, 26 May 2024 06:11 PM (IST)
अचानक आंधी तूफान के साथ बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त

जागरण संवाददाता, प्रतापगढ़। UP Weather News: जिले में रविवार को दोपहर दो बजे के बाद अचानक मौसम में बदलाव आ गया। लालगंज व रानीगंज क्षेत्र में आंधी संग चक्रवाती तूफान ने काफी नुकसान किया। बरसात भी हुई।

आसमान में बादल छाने से लोगों को तेज धूप से राहत तो मिली, लेकिन कुछ देर बाद फिर धूप निकल आई। शहर में तेज हवाएं ही चलीं, आंधी का असर नहीं रहा। हालांकि मौसम बदलने के बाद भी तापमान 42 पर ही बना रहा।

मई माह के प्रारंभ से ही गर्मी ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया था। रविवार को सुबह से ही चिलचिलाती धूप में लोगों का घर से निकलना मुश्किल हो गया था। दोपहर के बाद चालू हुई पुरवा हवाओं और आसमान में छाए बादलों ने लोगों को काफी राहत दी।

कुंडा, लालगंज व रानीगंज क्षेत्र में 15 से 20 मिनट तक ऐसा ही मौसम रहा। हालांकि कुछ देर बाद फिर से धूप निकल आई और गर्मी एवं उमस शुरू हो गई। सनई अनुसंधान केंद्र के मौसम विज्ञान प्रेक्षक देशराज मीना ने बताया कि रविवार को न्यूनतम तापमान 31 तथा अधिकतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस रहा, वहीं शनिवार को न्यूनतम तापमान 29.8 व अधिकतम 42 डिग्री सेल्सियस रहा।

टूटे तार व पेड़, जनजीवन अस्त-व्यस्त

आंधी तूफान व हल्की वर्षा के चलते रविवार को दोपहर करीब सवा दो बजे थोड़ी देर के लिए जनजीवन अस्त-व्यस्त हो उठा। नगरीय एवं ग्रामीण अंचलों में कई जगह बिजली का तार टूट जाने से विद्युत आपूर्ति भी ठप हो गई। वहीं सगरा सुंदरपुर, हंडौर, अजगरा समेत कई जगह पेड़ टूटकर सड़क पर गिर गए। इससे काफी देर तक जौनपुर रायबरेली राजमार्ग पर आवागमन बाधित रहा। वहीं तेज हवाओं के चलते लोगों के टिनशेड, छप्पर उड़ गए।

हंडौर में ननकऊ वर्मा के यहां गया जगन्नाथ दर्शन के उपरांत आयोजित भंडारा में खलल पड़ी। यहां लगे टेंट उड़ गए। गनीमत रही कि आंधी तूफान वर्षा का समय महज 15 से 20 मिनट तक होने से अधिक नुकसान नहीं हुआ। वहीं बारिश थमने के बाद गर्मी के साथ उमस के भी बढ़ने से लोग परेशान हो उठे। तेज हवाओं से बाग में आम को लेकर भी नुकसान हुआ।

अचानक करीब पौने तीन बजे अचानक मौसम का मिजाज बदला। आसमान पर बदलों की चहल कदमी के साथ तेज हवाएं चली और रानीगंज तहसील क्षेत्र में बूंदाबांदी हुई। मौसम का मिजाज बदलने से गर्मी उमस से लोगों को कुछ राहत मिली।

गौरा प्रतिनिधि के अनुसार दोपहर तीन बजे मौसम का मिजाज बदला और हवा के साथ गौरा क्षेत्र में बारिश हुई। मौसम में बदलाव से गर्मी उमस से लोगों ने राहत महसूस की। गोतनी प्रतिनिधि के अनुसार तहसील क्षेत्र में कुंडा में दोपहर को अचानक मौसम में बदलाव आया। कुछ देर के लिए तेज हवाओं के साथ बूंदाबांदी भी हुई।

आसमान में बादल छाने से लोगों को तेज धूप से राहत तो मिली, लेकिन गर्मी से पूरी तरह राहत नहीं मिल सकी। बदला मौसम देख लोग घरों से बाहर निकलकर मौसम का आनंद लेते दिखाई दिए।

यह भी पढ़ें: UP Weather Today: प्रदेश का सबसे गर्म शहर बना ताजनगरी, गोरखपुर में पारा 42 पार, जानिए आज कैसा रहेगा यूपी का मौसम