लखनऊ, जेएनएन। विधान परिषद में स्नातक व शिक्षक क्षेत्र की 11 सीटों पर वर्ष 2020 में होने वाला चुनाव समाजवादी पार्टी के लिए बड़ी परीक्षा है। विधान परिषद में सबसे बड़ी पार्टी होने का रुतबा बनाए रखने के साथ संगठनात्मक दमखम भी परखा जाएगा।

विधानसभा उपचुनावों में भाजपा के साथ लोकसभा चुनाव में साथी रही बहुजन समाज पार्टी को झटका देकर दो सीटें अतिरिक्त हासिल करने के बाद समाजवादी पार्टी के नेतृत्व पर अब विधानपरिषद में भी प्रदर्शन दोहराने की चुनौती बढ़ गयी है।

विधान परिषद की जिन 11 सीटों पर चुनाव होना है उसमें से दो ही सपा के कब्जे वाली है परंतु वर्ष 2022 में प्रदेश की सत्ता में वापसी का लक्ष्य पाने को ताकत दिखानी होगी। इस चुनाव में शिक्षक राजनीति का दखल होने से मुकाबले रोचक होंगे। बसपा ने इस चुनाव से भले ही किनारा किया है, लेकिन सत्ताधारी भाजपा पूरी ताकत के साथ मैदान में उतरने को तैयार है। वहीं कांगेे्रस की ओर से अभी तक कोई रुचि न दिखाना भी समाजवादी पार्टी के लिए शुभ संकेत है।

अखिलेश खुद संभाले है कमान

विधान परिषद निर्वाचन को लेकर गंभीरता दिखाते हुए सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव स्वयं ही कमान संभाले हुए है। अधिकतर सीटों पर उम्मीदवार घोषित करने के साथ ही वोटर लिस्ट दुरुस्त कराने का काम जिलास्तर पर कराया जा रहा है। तैयारियों की निगरानी में जुटे प्रमुख राष्ट्रीय महासचिव प्रो.रामगोपाल यादव ने स्नातक क्षेत्र में वोट बनाने में रुचि नहीं लेने वाले नेताओं को संगठन में पद न देने के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को पत्र लिखा है।

असंतुष्टों पर नजर

विधानपरिषद चुनाव की तैयारी तेज करने के साथ असंतुष्टों की गतिविधि पर भी नजर रखने के निर्देश दिए गए है। सूत्रों का कहना है कि घोषित किए प्रत्याशियों की समीक्षा भी करायी जा रही है। जरूरत पडऩे पर बदलाव भी संभव है। भाजपा की घेराबंदी के लिए चुनाव से दूर राजनीतिक दलों से समर्थन लेने की जुगत भी की जा रही है।

इनका कार्यकाल छह मई 2020 को पूरा

1-डा. असीम यादव

2-संजय कुमार मिश्र

3-केदारनाथ सिंह

4-डा.यज्ञदत्त शर्मा

5-ओमप्रकाश शर्मा

6-जगवीर किशोर जैन

7-ध्रुव कुमार त्रिपाठी

8-हेमसिंह पुंडीर

9-चेतनारायण सिंह

10-उमेश द्विवेदी

11-क्रांति सिंह

सौ सदस्यीय सदन में दलीय स्थिति

नाम पार्टी व संगठन सदस्य संख्या

समाजवादी पार्टी-    55

भारतीय जनता पार्टी- 21

बहुजन समाज पार्टी- 08

शिक्षक दल-     05

निर्दलीय समूह- 05

कांग्रेस-  02

अपना दल सोनेलाल- एक

निर्दल- एक

असंबद्ध- एक

रिक्त- एक। 

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस