पटना [स्‍टेट ब्‍यूरो]। राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के परिवार का फजीहतों से पीछा नहीं छूट रहा है। कई तरह के मामलों और मुकदमों में फंसे इस परिवार को अब बड़ी बहू ऐश्‍वर्या राय ने नई मुसीबत में डाल दिया है। उन्‍होंने दहेज उत्पीडऩ और मारपीट की जिन धाराओं में अपनी सास व पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी समेत परिवार के तीन सदस्यों के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है, उनमें जेल भी हो सकती है। 

विदित हो कि लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) की शादी आरजेडी नेता व पूर्व मंत्री चंद्रिका राय (Chandrika Rai) की बेटी से  हुई है। लेकिन शादी के छह महीने के भीतर ही तेज प्रताप यादव ने तलाक (Divorce) का मुकदमा दायर कर दिया। इसपर 17 दिसंबर को सुनवाई है। इसके ठीक दो दिन पहले घर से बदहवास हालत में निकलीं ऐश्‍वर्या राय ने आरोप लगाया कि उन्‍हें सास राबड़ी देवी ने मारपीट कर बाहर निकाल दिया हे। ऐश्‍वर्या के पिता चंद्रिका राय ने भी लालू परिवार (Lalu Family) के लिए कड़े शब्‍दों का इस्‍तेमाल किया तथा कहा कि वे अपनी समधन राबड़ी देवी को गिरफ्तार कराकर ही दम लेंगे। ऐश्‍वर्या ने खुद की दहेज प्रताड़ना आदि के अन्‍य गंभीर आरोप भी लगाए। 

ऐश्वर्या राय ने एफआइआर में लगाए गंभीर आरोप

लालू परिवार द्वारा पूरे प्रकरण को राजनीतिक रंग देने की कोशिशों के बीच ऐश्वर्या राय ने पटना के महिला थाने में दर्ज कराई गई अपनी एफआइआर में कई गंभीर आरोप लगाए हैं। दहेज प्रताडऩा, मारपीट एवं धक्के देकर घर से निकालने के आरोप लगाकर राबड़ी देवी के सरकारी आवास से रविवार शाम बाहर निकली (या निकाली गईं) ऐश्वर्या राय ने सास के अलावा पति तेज प्रताप यादव एवं ननद मीसा भारती (Misa Bharti) के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कराया है। एफआइआर में राबड़ी देवी को मुख्य आरोपी बनाया गया है। पति तेजप्रताप और ननद मीसा भारती पर भी दहेज के लिए दबाव बनाने और तंग करने के आरोप लगाए गए हैं। हालांकि, मारपीट के दौरान तेज प्रताप और मीसा भारती आवास में मौजूद नहीं थे। 

इस मामले में आरोपितों की हो सकती गिरफ्तारी

कानून के जानकारों का कहना है कि जिन धाराओं के तहत ऐश्वर्या राय ने एफआइआर दर्ज कराया है, उनमें आरोपितों की गिरफ्तारी भी हो सकती है। किंतु यह पुलिस पर निर्भर करेगा कि वह इसे कितनी गंभीरता से लेती है। पटना हाईकोर्ट के एक वरिष्ठ अधिवक्ता का कहना है कि दहेज के लिए पति या उसके रिश्तेदारों द्वारा महिला के खिलाफ क्रूरता के मामले में धारा 498ए लगाई जाती है। यह गैरजमानती है। 

पड़ताल के आधार पर पुलिस उठा सकती कदम

हालांकि, ऐश्वर्या द्वारा दर्ज एफआइआर में पहले से ही बहुत सारे गतिरोधों का जिक्र है। इसी तरह का एक अन्य मामला पहले से ही अदालत में विचाराधीन है। ऐसे में पुलिस विभिन्न पक्षों की उचित पड़ताल और विवेक के आधार पर ही कोई कदम उठा सकती है। यह भी देखना होगा कि ऐश्वर्या के आरोप कितने सही हैं। घटना के दौरान आरजेडी विधायक शक्ति सिंह यादव मौके पर मौजूद थे। उनका बयान भी मायने रखेगा। 

तीन दिनों से चुप हैं तेज प्रताप यादव 

राबड़ी देवी के सरकारी आवास में शनिवार देर रात तक हुए हाई वोल्टेज ड्रामा एवं एफआइआर के बावजूद तेज प्रताप यादव मौन हैं। बात-बात पर ट्वीट करने वाले तेज प्रताप ने तीसरे दिन तक मुंह नहीं खोला है। घटना के बाद अभी तक आरजेडी की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। उधर, तेज प्रताप के लंबे बाल पर ऐश्वर्या के पिता ने टिप्पणी की है कि उन्होंने ऐश्वर्या को घर से निकालने का संकल्प ले रखा है। जबतक राबड़ी के आवास में ऐश्वर्या रहेगी, तबतक तेज प्रताप बाल नहीं कटवाएंगे। 

लालू परिवार पर चौतरफा मुसीबत 

दरअसल, लालू परिवार इधर लंबे समय से चौतरफा मुसीबतों से घिरा है। चारा घोटाले में दो साल पहले से परिवार के मुखिया लालू प्रसाद जेल में बंद हैं। उन्हें कई तरह की बीमारियों ने घेर रखा है। 

परिवार के राजनीतिक उत्तराधिकारी तेजस्वी यादव के सामने भी कम मुश्किलें नहीं हैं। तेजस्वी यादव रेलवे टेंडर घोटाले में कानूनी पचड़े में फंसे हुए हैं। मीसा भारती और राबड़ी देवी के खिलाफ पहले से ही अदालतों में आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने का मामला चल रहा है। 

ऐश्वर्या के आरोपों से फिर सुर्खियों में लालू परिवार 

इस बीच, ऐश्वर्या के आरोपों ने सियासी गलियारे में लालू परिवार को फिर सुर्खियों में ला दिया है। ऐश्वर्या के पिता चंद्रिका राय ने भी लालू परिवार के खिलाफ खुलेआम मोर्चा खोल दिया है। लालू-राबड़ी परिवार में बेटी की शादी करने पर वह अफसोस जता रहे हैं और राजनीतिक लड़ाई का ऐलान कर रखा है। 

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस