लखनऊ, जेएनएन। देश की राजनीति में अपनी बदजुबानी के लिए बेहद चर्चित समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खां ने रामपुर में अंग्रेजों के जमाने का पुल भी गिरवा दिया था। इसके कारण दो-तीन लाख लोग प्रभावित हो रहे थे। इस बाबत उनका रामपुर में विरोध भी हुआ तो मामला राजभवन तक आ गया।

गवर्नर राम नाईक ने भी इस बाबत डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य पत्र भी लिखा। गवर्नर राम नाईक ने कहा है कि कांग्रेस नेता फैसल खान लाला ने उन्हें ज्ञापन सौंपकर कहा था कि अंग्रेजों के जमाने का लालपुर का पुल सियासत की भेंट चढ़ा गया। फैसल खान लाला ने ज्ञापन में कहा कि तहसील टांडा के लाखों लोग पुराने पुल से होकर शहर आते थे। पुल तोड़े जाने की वजह से शहर से उनका संपर्क टूट गया है।

समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खां के खिलाफ उत्तर प्रदेश के गवर्नर राम नाईक ने तीसरा पत्र लिखा है। इस बार उन्होंने यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को पत्र लिखा है। पत्र में गवर्नर रामपुर के लालपुर का नया पुल बनवाने और गैरकानूनी तरीके से पुराना पुल गिराने वाले दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए उपमुख्यमंत्री को पत्र लिखा है।

समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खां की मुश्किलें कम नहीं हो रही है। अभद्र भाषा का प्रयोग करने के साथ ही उनके खिलाफ आरोपों की फेहरिस्त रोजाना बढ़ती ही जा रही है। आजम खां अब रामपुर में एक पुल गिरवाने के आरोप में गवर्नर के रडार पर है। गवर्नर राम नाईक ने डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को पत्र लिखकर इस मामले में जरूरी कार्रवाई के लिए कहा है। गवर्नर राम नाईक ने डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को इस मामले में पत्र लिखा है।

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को लिखे पत्र में गवर्नर राम नाईक ने कहा है कि कांग्रेस नेता फैसल खान लाला ने उन्हें ज्ञापन सौंपकर कहा था कि रामपुर में अंग्रेजों के जमाने का लालपुर का पुल सियासत की भेंट चढ़ा गया। फैसल खान लाला ने कहा तहसील टांडा के लाखों लोग पुराने पुल से होकर शहर आते थे। पुल तोड़े जाने की वजह से शहर से उन सभी का संपर्क टूट गया है।

आरोप है कि आजम खां ने अपने राजनीतिक फायदे के लिए बिना नया पुल बनवाए पुराने लालपुर के पुल को इसलिए तुड़वा दिया। वह अपने बेटे अब्दुल्ला आजम को पुल के उस पार स्वार-टांडा विधानसभा से चुनाव लड़ाना चाहते थे। आरोप के मुताबिक 2017 में विधानसभा चुनाव से ठीक छह महीने पहले आजम खां के इशारे पर पुल को गिरा दिया गया। रिपोर्ट के मुताबिक आजम ने जनसभा में टांडा के लाखों वोटरों को ब्लैकमेल करते हुए कहा कि यदि इनका बेटा अब्दुल्ला चुनाव नहीं जीता तो यह पुल किसी भी कीमत नही बन सकेगा।

फैसल खान का आरोप है कि आजम खां ने न सिर्फ पुल ध्वस्त करवाया बल्कि उसका करोड़ो का मलबा, लोहे की छड़ें आदि सामान जौहर ट्रस्ट को मुफ्त में दे दिया। पुल टूटने के कारण तहसील टांडा के लगभग 5 लाख लोगों का संपर्क जिला मुख्यालय से आज तक कटा हुआ है। फैसल लाला ने मांग की है कि इस मामले में दोषी लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। इसके साथ ही लालपुर के नये पुल को जल्द बनवाया जाए। कांग्रेस नेता फैसल खान लाला ने आठ जुलाई को राजभवन पहुंचकर गवर्नर को ज्ञापन सौंपा था और मामले में कार्रवाई की मांग की है।  

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस