अहमदाबाद, एएनआइ। शारदीय नवरात्र के पहले दिन शनिवार को गुजरात में गांधीनगर के मणसा में बहुचर माता मंदिर में गृह मंत्री अमित शाह ने पूजा-अर्चना की। कोरोना महामारी के चलते गुजरात सरकार ने नवरात्रि पर्व के दौरान पूजा, आरती की छूट दी है लेकिन गरबा पर प्रतिबंध के चलते शनिवार को प्रथम नवरा‍त्रि को घटस्‍थापना के साथ अहमदाबाद, सूरत, वडोदरा सहित विविध शहर व कसबों में खेलैयाओं ने घर पर ही गरबा किया। गुजरात में 17 से 24 अक्‍टूबर तक नवरात्रि महोत्‍सव मनाया जा रहा है। कोरोना महामारी के चलते इस बार सरकार ने लोगों को महामारी की गाइड लाइन का पालन करते हुए पूजा व आरती की मंजूरी दी है लेकिन किसी भी तरह का गरबा करने पर प्रतिबंध लगा दिया है ताकि कोरोना को फैलने से रोका जा सके।

मुख्‍यमंत्री विजय रुपाणी ने खुद नवरात्रि की पूर्व संध्‍या पर अपने संदेश में कहा कि सरकार जनहित में गरबा की मंजूरी नहीं दे रही है। रूपाणी ने कहा कि जब तक वैक्‍सीन नहीं आ जाती है तब तक मास्‍क, सैनिटाइजर, सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन करते रहें। शनिवार को नवरात्र के धटस्‍थापना के बाद लोगों ने दिन में ही घरों व व्‍यापारिक कॉम्‍पलेक्‍स में गरबा किया। अहमदाबाद में पटेल परिवार का गरबा, प्रहलाद नगर में फ्रेंड्स गरबा, शाह परिवार का गरबा, सूरत में भट्टपरिवार का गरबा, जामनगर में जिम में गरबा,राजकोट के रावल परिवार का गरबा, बनासकांठा में सोलंकी परिवार का गरबा के नाम से प्रदेश में घर घर में गरबा खेला गया।

गौरतलब है कि गुजरात में कोरोना संक्रमितों की संख्‍या 1 लाख 58 हजार को पार कर गई है तथा 3630 से अधिक लोग कोरोना के चलते काल के गाल में समा चुके हैं। अकेले अहमदाबाद में कोरोना संक्रमितों की संख्‍या 39844 को पार कर गई तथा मौत का आंकडा 1870 को पार कर चुकी है। सूरत में कोराना संक्रमितों की संख्‍या 33500, वडोदरा में 14100 राजकोट में 11400 को पार कर चुकी है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस