लखनऊ, जेएनएन। वृंदावन में वर्ष 2021 में धर्म-अध्यात्म का बड़ा समागम होगा। 40 हेक्टेयर क्षेत्र में 41 दिन तक चलने जा रही वृंदावन बैठक की तैयारियों का प्रस्तुतीकरण मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने देखा। साधु-संतों को स्नान के लिए यमुना का स्वच्छ जल उपलब्ध कराने के साथ ही प्रयागराज कुंभ जैसी बेहतर व्यवस्थाएं करने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं।

ब्रज तीर्थ विकास परिषद ने सोमवार को वृंदावन बैठक-2021 की तैयारियों का प्रस्तुतीकरण लोक भवन में किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने समीक्षा करते हुए कहा कि 2021 में 16 फरवरी से 28 मार्च तक होने जा रही इस बैठक में देशभर से साधु-संत शामिल होंगे। उनके और श्रद्धालुओं के लिए पेयजल, मार्ग प्रकाश, आवागमन, पार्किंग, अस्थायी बिजली कनेक्शन सहित सभी अवस्थापना सुविधाएं बेहतर होनी चाहिए।

योगी ने कहा कि संतों को स्नान के लिए यमुना का शुद्ध जल मिले, इसके लिए अभी से जुट जाएं। यमुना में गिरने वाले दूषित जल और अपशिष्टों को रोकने के लिए दिल्ली सरकार से वार्ता करें। नदी में जल की मात्रा भी बढ़वाने के लिए बातचीत करें। उन्होंने निर्देश दिए कि बैठक के दौरान स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए 25 बेड का अस्पताल बनाया जाए। यातायात के सुचारू संचालन के लिए कुंभ की तरह पांटून पुल बनाने के भी निर्देश मुख्यमंत्री ने दिए।

निरंतर होंगे सांस्कृतिक कार्यक्रम

मुख्यमंत्री ने कहा कि 41 दिन तक चलने वाली बैठक के दौरान हर दिन सांस्कृतिक कार्यक्रम होते रहने चाहिए। कृष्ण-लीला ग्राम स्थापित करने का सुझाव दिया। कहा कि सभी विभाग तैयारियों के लिए बजट का प्रस्ताव भेजें। बैठक में पर्यटन मंत्री डॉ. नीलकंठ तिवारी, मुख्य सचिव आरके तिवारी, अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश कुमार अवस्थी, अपर मुख्य सचिव वित्त संजीव कुमार मित्तल सहित संबंधित विभागों के प्रमुख सचिव शामिल हुए।

Posted By: Umesh Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप