लखनऊ, जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कभी बेहद करीबी होने का दावा करने वाले सुनील सिंह ने शनिवार को समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली। समाजवादी पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में शनिवार को पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव की मौजूदगी में सुनील सिंह ने अपनी पार्टी हिंदू युवा वाहिनी भारत पार्टी का समाजवादी पार्टी में विलय करने की भी घोषणा की।

समाजवादी पार्टी प्रदेश मुख्यालय में शनिवार को पूर्व रक्षा मंत्री मुलायम सिंह यादव के साथ पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की मौजूदगी में सुनील सिंह के साथ ही बहुजन समाज पार्टी के निष्काषित सीएल वर्मा ने समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। इतना ही नहीं सुनील सिंह ने तो अपनी पार्टी का समाजवादी पार्टी में विलय भी किया।

इस अवसर पर समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने कहा कि हमारी पार्टी तो नौजवानों की पार्टी है। अब युवा नेता जनता को पार्टी की विचारधारा बताएं। नौजवानों का मैं स्वागत करता हूं, अब तो पार्टी नौजवानों के हाथों में होगी। नौजवान ही सपा का भविष्य है। समाजवादी पार्टी की सात क्रांति तो जन-जन तक जानी चाहिए। हमने कभी भी देश तथा प्रदेश में भेदभाव की राजनीति नहीं की। कभी की काले-गोरे का भेद नहीं किया।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने नाराज उनके खास रहे हिंदू युवा वाहिनी भारत के सुनील सिंह, मोहनलालगंज से बसपा के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़े सीएल वर्मा,कुमार चाहत मल्होत्रा, पंजाबी विकास मंच के दीपक विग, बसपा के पूर्व मंत्री रघुनाथ शंखवार, गंगाराम पाल, सुरेश रावत तथा आनन्द निषाद ने समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।

सुनील सिंह ने छोड़ा योगी आदित्यनाथ का साथ

योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने से पहले उनके संरक्षण वाली हिंदू युवा वाहिनी के सिपहसालार रहे सुनील सिंह समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए। सुनील सिंह 2002 में हिंदू युवा वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष बने थे। इतना ही नहीं अपने दल का भी विलय कर दिया। लंबे समय तक योगी आदित्यनाथ के करीबियों में शामिल रहे सुनील सिंह ने 2017 के विधानसभा चुनाव के पहले बगावत कर दी थी। योगी आदित्यनाथ के मना करने के बाद भी उन्होंने भाजपा के खिलाफ प्रत्याशियों की घोषणा की थी। वाहिनी से निकाले जाने के बाद उन्होंने 2018 में हिंदू युवा वाहिनी (भारत) नाम से नया संगठन बनाया था। गोरखपुर में थाने में तोड़-फोड़ समेत अन्य मामलों में सुनील को 2018 में जेल भेजा गया और बाद में एनएसए भी लगा। 2019 के लोकसभा चुनाव में गोरखपुर से पर्चा भरा लेकिन उसे खारिज कर दिया गया। सुनील सिंह का कहना है कि प्रदेश सरकार ने तीन वर्ष में विकास के नाम पर केवल शिगूफा दिया है। अखिलेश यादव में युवा उम्मीद देख रहे हैं, इसी कारण आज से समाजवादी पार्टी में शामिल होने का फैसला किया है।

भाजपा ने नौजवानों को धोखा दिया : सुनील सिंह

हिंदू वाहिनी भारत के अध्यक्ष सुनील सिंह ने कहा कि भाजपा ने प्रदेश तथा देश के नौजवानों को धोखा दिया है। योगी आदित्यनाथ सरकार नौजवानों के सपनों की हत्यारी सरकार है। इसने तो किसानों, नौजवानों व कर्मचारियों के सपनों का कत्ल किया है। मुझे तो अब इस सरकार को उखाडऩे के लिए जो कुछ करना पड़ेगा करूँगा। उन्होंने कहा कि नौजवानों को केसरिया झंडा दिखा कर बरगला लिया गया था। इससे पहले भी रामायण काल मे भी भगवा पहन कर सीता का हरण किया गया था। उसी भगवे में एक बार फिर छलने का काम किया जा रहा है। अब तो मैं अखिलेश यादव के नेतृत्व में देश तथा प्रदेश में समाजवादी पार्टी के लिए जान लगा कर काम करूंगा।

सपा करेगी योगी आदित्यनाथ पर जोरदार हमला : अखिलेश

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि यहां पर सुनील सिंह ने जो कहा है वो सब बातें हमारे पड़ोसी के कानों तक पहुंच गई होंगी। मै हिन्दू युवा वाहिनी भारत के सभी साथियो का सपा मे स्वागत करता हूं। सुनील सिंह के समाजवादी पार्टी में आने के बाद अब चिलम नहीं जलेगी। एक पेंटर को गांजा बेचने का फर्जी आरोप लगाकर जेल भेज दिया। इस मामले में मैंने भी एसपी से बात की पर कोई सुनवाई नहीं हुई। सुनील सिंह पर भी 86 मुकदमे दर्ज हैं। क्या अपने साथियो के साथ कोई ऐसा करता है। उन्होंने कहा कि बसपा से लोकसभा का चुनाव लडऩे वाले युवा नेता सीएल वर्मा का भी मैं स्वागत करता हूं। अखिलेश यादव ने कहा कि देश में नागरिकता को लेकर क्या सवाल खड़ा कर दिया गया है। असोम में जोरदार विरोध के बाद देश में हर जगह पर विरोध हो रहा है। समाजवादी पार्टी में सुनील सिंह के आ जाने से अब उन लोगों की नागरिकता पर सवाल उठेगा जो लोग दूसरों की नागरिकता ले रहे हैं। अखिलेश ने कहा कि भाजपा ने हमारे बुक्कल नवाब को ले लिया और उनको हनुमान जी की पूजा में लगा दिया है। इनका काम दूसरा था यह तो दूसरा काम करने लगे। समाजवादी पार्टी में अब हिन्दू युवा वाहिनी के लोग आ गए है वापस इनको वही काम करना पड़ेगा।

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस