लखनऊ, जेएनएन। कोरोना वायरस संक्रमण के लगातार बढ़ते प्रसार पर नियंत्रण के जोरदार प्रयास में लगे सीएम योगी आदित्यनाथ ने रविवार को भी टीम-11 के साथ समीक्षा में सभी अफसरों को सख्ती से निर्देश दिया। अपने सरकारी आवास पर बैठक में सीएम योगी आदित्यनाथ ने नोडल अधिकारियों को भी जिलों में सभी की सक्रियता परखने का निर्देश दिया। उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि कोरोना बचाव के प्रति अग्रिम रणनीति बनाकर प्रभावी नियंत्रण किया जा सकता है। लखनऊ, कानपुर नगर, प्रयागराज, बरेली, गोरखपुर, झांसी और वाराणसी में विशेष सतर्कता बरती जाए। ज्यादा से ज्यादा टेस्ट किए जाएं। उन्होंने हर मेडिकल कॉलेज के आइसीयू में बेड की संख्या दोगुनी करने का निर्देश दिया है। 

सीएम योगी आदित्यनाथ ने सूबे की राजधानी लखनऊ के साथ ही कानपुर, प्रयागराज, बरेली, गोरखपुर, झांसी व वाराणसी में लगातार बढ़ रहे मामलों पर सभी को विशेष सतर्कता बरतने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि कोरोना से बचाव के प्रति अग्रिम रणनीति से ही प्रभावी नियंत्रण किया जा सकता है। सभी को हमेशा फ्रंट फुट पर रहना होगा। इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग तथा अन्य विभाग के कर्मी अपने को संक्रमण से बचाते हुए काम करें।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने रविवार को अपने सरकारी आवास पर उच्चस्तरीय बैठक में कोरोना संक्रमितों के इलाज की व्यवस्था की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि कोविड अस्पतालों में भर्ती मरीजों की स्थिति की निगरानी के लिए सीनियर डॉक्टर लगातार राउंड पर रहें। कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग प्रभावी ढंग से की जाए। योगी ने कहा कि सहारनपुर में एल-3 स्तर का अस्पताल शीघ्र बनाया जाए। वहीं, शामली और बरेली में डेडिकेटेड कोविड चिकित्सालय 16 अगस्त तक शुरू हो जाए। उन्होंने कहा कि कोरोना से प्रभावित लोगों को अस्पताल पहुंचाने के लिए तुरंत एंबुलेंस उपलब्ध हो। इसके लिए कमांड एंड कंट्रोल सेंटरों को सक्रिय रखें। अस्पतालों की व्यवस्था व सुविधाओं को और बेहतर बनाएं। बैठक में मुख्यमंत्री को बताया गया कि अब तक प्रदेश में 31 लाख 18 हजार 567 कोविड-19 के टेस्ट किए जा चुके हैं।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में अभी रोज करीब एक लाख 25-30 कोविड-19 टेस्ट हो रहे है, समय के साथ इनको भी डेढ़ लाख तक करें। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 31 लाख 18 हजार 567 कोरोना के टेस्ट किए जा चुके है। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही संदिग्धों को तत्काल क्वॉरंटीन करें। अस्पतालों में भर्ती की सभी स्थिति की मॉनिटरिंग के लिए सभी जगह सीनियर डॉक्टर लगातार राउंड पर रहे है।


सीएम योगी आदित्यनाथ ने चिकित्सा शिक्षा विभाग को निर्देश दिए कि प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेज में आइसीयू के बेड की संख्या दोगुनी कर दी जाए। इसी तरह स्वास्थ्य विभाग सभी जिला अस्पतालों में आइसीयू के बेड बढ़ाने की प्रक्रिया शुरू कर दे। उन्होंने बाढ़ प्रभावित लोगों तक तुरंत राहत पहुंचाने और गोशालाओं में चारे की व्यवस्था करने के भी निर्देश अधिकारियों को दिए। इस अवसर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, स्वास्थ्य राज्य मंत्री अतुल गर्ग और मुख्य सचिव आरके तिवारी सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। 

बीते दो दिन तक बरेली, नोएडा व सहारनपुर का दौरा करने के बाद लौटे सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि लेवल थ्री का अस्पताल शीघ्र बनाएं। इसके साथ ही शामली और बरेली में डेडीकेटेड कोविड चिकित्सालय 16 अगस्त तक क्रियाशील हो जाएं।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सभी कमांड एवं कंट्रोल सेंटर को और प्रभावी बनाया जाए। इसके साथ ही साथ कोरोना से प्रभावित लोगों को अस्पताल पहुंचाने के लिए तुरंत एंबुलेंस उपलब्ध हो। प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेज में आईसीयू के बेड की संख्या दोगुनी कर ली जाए। स्वास्थ्य विभाग सभी जिला अस्पतालों में आईसीयू के बेड की प्रक्रिया तत्काल शुरू करें। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस