कोलकाता, एएनआइ। दिलीप घोष को 2020-2023 के लिए भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष के रूप में दोबारा चुना गया है। भाजपा में अभी संगठन का चुनाव चल रहा है, जिसमें सभी प्रदेशों में अध्यक्ष चुनने के बाद जल्द ही राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव होगा।  माना जा रहा है कि भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा जल्द ही विधिवत भाजपा के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष घोषित किये जायेंगे। 

पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष दिलीप घोष हाल ही में अपने एक बयान को लेकर सुर्खियों में थे। उन्होंने कहा था कि नागरिकता कानून को लेकर हिंसक प्रदर्शनों के दौरान जिस तरह उत्तर प्रदेश में उपद्रवियों को गोली मारी गई, उसी तरह वह बंगाल में भी अराजक तत्वों को कुत्तों की तरह गोली मारेंगे। उन्होंने कहा था कि अगर हम सत्ता में आए तो देश विरोध लोग जो सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाते हैं, उनको लाठियों से मारेंगे, गोली मारेंगे और जेल भेजेंगे।

दिलीप घोष ने कहा था पश्चिम बंगाल जब नक्सलवाद से प्रभावित था तो उस समय सिद्धार्थ शंकर रे ने कई युवाओं को मारा था। उनकी पीठ पर गोली मारी थी। उस दौरान उनकी तारीफ करने वाले आज अहिंसा की बात कर रहे हैं। क्या वो लोग बूढ़े हो गए हैं या उनका खून ठंडा हो गया है। ममता बनर्जी दार्जिलिंग गई थीं और वहां उन्होंने कहा कि जो हमसे टकराएगा, चूर-चूर हो जाएगा। पुलिस फायरिंग में 11 गोरखा मारे गए। कम्युनिस्टों ने मोरिरझापी में 6 पूर्व ब्लॉक सदस्यों और कई शरणार्थियों को मार डाला था।

पश्चिम बंगाल भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष अपने विवादित बयानों की वजह से सुर्खियों में रहते हैं।सीपीएम विधायक सुजान चक्रवर्ती ने दिलीप घोष के बयान पर कहा, 'उन्होंने कहा कि असम और यूपी में पुलिस ने लोगों को कुत्तों की तरह गोली मारी। हम पूछते हैं कि क्या हकीकत में यूपी और असम पुलिस ने ऐसा किया। हमारे समय में पुलिस ने मजबूर होकर अंतिम समय में गोली चलाई थी और वो कह रहे हैं कि उन्होंने लोगों को कुत्तों की तरह मारा। 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस