लखनऊ, जेएनएन। अलग-अलग मुद्दों पर कांग्रेस महासचिव व उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका वाड्रा का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखने का सिलसिला जारी है। शनिवार को उन्होंने मुख्यमंत्री को भेजे पत्र में उत्तर प्रदेश में आपराधिक घटनाओं को लेकर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि अपहरण एक उद्योग बन चुका है और हत्या एक रोजनामचा। लूट और दुष्कर्म की घटनाओं से प्रदेश दहल उठा है।

कांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका वाड्रा ने पत्र में लिखा है कि पिछले दिनों मैंने एक पत्र के माध्यम से प्रदेश में बढ़ रही आपराधिक घटनाओं की तरफ आपका ध्यान आकृष्ट करने की कोशिश की थी। दिनदहाड़े आम लोगों के साथ घट रही आपराधिक घटनाओं के चलते प्रदेश के आमजन के मन में एक डर का भाव बैठ गया है। उत्तर प्रदेश में क्राइम और कोरोना दोनों बेलगाम हो चुके हैं। लोगों को कहते सुना है कि उत्तर प्रदेश में अपहरण एक उद्योग बन चुका है और हत्या एक रोजनामचा। लूट और दुष्कर्म की घटनाओं से प्रदेश दहल उठा है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा ने कहा कि यह सब सिर्फ एक चीज की तरफ इशारा करता है कि किसी न किसी कारण अपराधी बेखौफ हैं और शासन-प्रशासन का इकबाल खत्म हो गया है। उन्होंने संभल जिले में हुई एक घटना का जिक्र करते हुए लिखा है कि चंदौसी में रहने वाले रामौतार शर्मा इफको किसान सेवा केंद्र से सेवानिवृत्त थे और गांव बिचेटा चौराहे पर एक खाद की दुकान चलाते थे। 30 जुलाई 2020 की शाम को दुकान से वापस जाते वक्त बदमाशों ने रामौतार शर्मा व उनके बेटे पर गोली चलाई। उनके पैसे लूट लिए। इस घटना में रामौतार शर्मा की मृत्यु हो गई और उनके बेटे बाल-बाल बचे। इस घटना से पूरे क्षेत्र में रोष व्याप्त है। प्रियंका ने मांग की है कि जल्द से जल्द अपराधियों को पकड़ कर पीड़ित परिवार को न्याय दिलाया जाए। परिवार के लिए आर्थिक मदद की भी प्रदेश सरकार घोषणा करे।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस