लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में विधान परिषद (MLC) की स्नातक व शिक्षक क्षेत्र की सीटों पर होने वाले चुनाव के कांग्रेस ने अपने छह प्रत्याशियों की घोषणा शुक्रवार को कर दी है। स्नातक निर्वाचन क्षेत्र में आगरा सीट पर राजेश द्विवेदी, मेरठ सहारनपुर में जितेंद्र कुमार गौड़, प्रयागराज में अजय कुमार सिंह और लखनऊ सीट पर ब्रजेश कुमार सिंह उम्मीदवार होंगे। इसके अलावा शिक्षक क्षेत्र की छह सीटों में से कांग्रेस ने अभी केवल दो उम्मीवारों की घोषणा की है। इसमें गोरखपुर-फैजाबाद क्षेत्र से नागेंद्र दत्त त्रिपाठी और बरेली-मुरादाबाद क्षेत्र से डा. मेंहदी हसन उम्मीदवार घोषित किए गए है।

विधान परिषद में स्नातक व शिक्षक क्षेत्र की 11 सीटों पर हो रहे चुनाव में कांग्रेस के उतरने से राजनीतिक घमासान बढ़ेगा। सभी सीटों पर मुकाबला भी रोचक होगा। शुक्रवार को उत्तर प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने छह उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर कांग्रेस को लेकर बनी ऊहापोह पर विराम लगा दिया।

विधान परिषद की जिन 11 सीटों के लिए चुनाव प्रस्तावित है, उनमें स्नातक क्षेत्र की पांच और शिक्षक क्षेत्र की छह सीटें शामिल हैं। प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने बताया कि कांग्रेस पूरी ताकत से मैदान में उतरेगी और चौंकाने वाले नतीजे लाएगी। 

जिला अध्यक्षों को सौंपी जिम्मेदारी

उम्मीदवारों की घोषणा के साथ कांग्रेस ने संबंधित जिला अध्यक्षों को तैयारी में जुटने के निर्देश दिए है। प्रभारी प्रशासन सिद्धार्थ प्रिय श्रीवास्तव ने बताया कि निर्वाचन क्षेत्रवार वरिष्ठ नेताओं को भी जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। 

राजनीतिक जोर आजमाईश बढ़ेगी

स्नातक व शिक्षक क्षेत्र की सीटों पर बसपा को छोड़ कर सभी प्रमुख दलों के मैदान में उतर आने से राजनीतिक जोर आजमाईश बढ़ेगी। भाजपा और समाजवादी पार्टी के अपने उम्मीदवार घोषित कर चुकी है। 

6 मई 2020 को इनका पूरा होगा कार्यकाल

उत्तर प्रदेश में स्नातक एवं शिक्षक क्षेत्र के 11 विधान परिषद सदस्यों का कार्यकाल मई 2020 में पूरा हो रहा है। इनमें डॉ. असीम यादव, संजय कुमार मिश्र, केदारनाथ सिंह, डॉ. यज्ञदत्त शर्मा, ओम प्रकाश शर्मा, जगवीर किशोर जैन, ध्रुव कुमार त्रिपाठी, हेम सिंह पुंडीर, चेत नारायण सिंह, उमेश द्विवेदी, कांति सिंह शामिल हैं। 

यूपी में विधान परिषद 100 सीटें

उत्तर प्रदेश की कुल 100 विधान परिषद (एलएससी) सीटें हैं। उत्तर प्रदेश में स्नातक एवं शिक्षक क्षेत्र के 11 विधान परिषद सदस्यों का कार्यकाल मई 2020 में पूरा हो रहा है। ऐसे में मार्च-अप्रैल में इन 11 सीटों पर चुनाव होने हैं। इन सदस्यों के क्षेत्र कई जिले और कई मंडलों को मिलकर होते हैं। इसमें 5 सदस्य स्नातकों के द्वारा चुने जाते हैं और 6 सदस्य शिक्षक संघ के द्वारा चुनकर आते हैं।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस