लखनऊ, जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उद्योगपति की शिकायत के आधे घंटे के भीतर प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के रायबरेली के क्षेत्रीय अधिकारी अनिल कुमार चौधरी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। गुजरात के उद्योगपति मनोज डेडिया ने सीएम कार्यालय के ट्विटर एकाउंट पर इस अफसर के खिलाफ भ्रष्टाचार की शिकायत की थी। सीएम की तुरंत कार्रवाई से खुश होकर शिकायतकर्ता ने ट्विटर पर धन्यवाद दिया। सीएम योगी के इस त्वरित कार्रवाई ने एक बार फिर यह साबित कर दिया कि उनकी सरकार में भ्रष्टाचार का कोई स्थान नहीं है।

दरअसल, उद्योगपति मनोज डेडिया ने अनिल कुमार चौधरी, क्षेत्रीय अधिकारी, उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, रायबरेली के विरुद्ध भ्रष्टाचार की शिकायत ट्विटर पर करते हुए लिखा कि अधिकारी ने उद्योग चलाने और अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी करने के एवज में पैसों की मांग की है। उन्होंने उद्योग बंधु और प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के संबंधित अधिकारियों से बातचीत का एक ऑडियो क्लिप भी साझा किया। इससे प्रथम दृष्टया यह स्पष्ट हो रहा था कि अधिकारी ने उद्योग के संचालन के लिए मनोज डेडिया से रिश्वत मांगी है।

भ्रष्टाचार की इस शिकायत पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तुरंत संज्ञान लेते हुए कड़ी कार्रवाई करने और मामले की जांच के आदेश दिए। साथ ही अधिकारी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। इस कार्रवाई से उत्साहित उद्योगपति ने सीएम को धन्यवाद का ट्वीट किया। उन्होंने लिखा कि...योगी जी, मुझे विश्वास नहीं हो रहा कि मेरी शिकायत के आधे घंटे के भीतर ही आपने कड़ी कार्रवाई की। मैं आपको पसंद तो पहले से करता ही था लेकिन अब मेरी नजर में आपका सम्मान पहले से और बढ़ गया है। आपको ढेर सारा प्रेम।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस