नई दिल्ली, जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिल्ली स्थित विज्ञान भवन में वामपंथ उग्रवाद प्रभावित राज्यों की समीक्षा बैठक में कहा कि उत्तर प्रदेश में नक्सली गतिविधियां पूरी तरह नियंत्रण में हैं और नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में भी विकास का पहिया घूम रहा है। मध्य प्रदेश से सटे मीरजापुर, बिहार, मध्यप्रदेश, झारखंड और छत्तीसगढ़ की सीमा से सटे सोनभद्र और बिहार की सीमा से सटे चंदौली में पीएसी, सीआरपीएफ और पुलिस अपना काम मुस्तैदी से कर रही है।

गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता आयोजित इस बैठक में योगी ने बताया कि मीरजापुर में पीएसी की एक कंपनी तैनात है, जबकि सोनभद्र में पांच कंपनी, एक प्लाटून पीएसी एवं दो कंपनी सीआरपीएफ तैनात हैं। चंदौली में भी दो कंपनी पीएसी एवं एक कंपनी सीआरपीएफ तैनात की गई है। स्पुथानीय पुलिस और इन सुरक्षा बलों द्वारा नक्सल प्रभावित एवं सीमावर्ती क्षेत्रों में कॉम्बिंग, सर्चिंग एवं पेट्रोलिंग की जाती है। समय समय पर एटीएस और आतंकवाद निरोधी दस्ता भी कार्रवाई करता है, जिसके परिणामस्वरूप नक्सलवादी गतिविधियों पर नियंत्रण बना हुआ है।

मुख्यमंत्री में बताया कि राज्य सरकार नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में ऐसे स्रोत बिंदुओं पर कड़ी नजर रखे हुए है जहां से नक्सलियों के लिए धन की उगाही की संभावना बन सकती है। ऐसे क्षेत्रों को चिन्हित कर सीआरपीएफ, पीएसी और पुलिस द्वारा कॉम्बिंग, सर्चिंग एवं पेट्रोलिंग की जा रही है। इसके साथ ही मीरजापुर, सोनभद्र और चंदौली में नक्सलियों से संबंधित कई मामले न्यायालयों में विचाराधीन हैं, जिसकी वजह से 38 अभियुक्त जेल में निरुद्ध हैं।

योगी ने बताया कि समय समय पर अंर्तराज्यीय समन्वय गोष्ठी का आयोजन कर सूचनाओं का आदान प्रदान किया जाता है। तथा सीमावर्ती क्षेत्रों में संयुक्त ऑपरेशन भी किये जाते हैं। उन्होंने कहा कि सोनभद्र में 48वीं वाहिनी पीएसी इंडियन रिजर्व बाटलियन के रूप में गठित है, जबकि चंदौली में दूसरी इंडियन रिजर्व बाटलियन की स्थापना किये जाने का निर्णय ले लिया गया है।

इसी प्रकार नक्सल प्रभावित जिलों में पुलिस थानों को और मजबूत किया गया है। मीरजापुर में 3, सोनभद्र में 8 और चंदौली में 4 फोर्टीफाइड पुलिस थानों का निर्माण कार्य पूरा किया जा चुका है और इन थानों में नियुक्तियां भी पूरी की जा चुकीं हैं। योगी ने बताया कि सोनभद्र में 6.75 किमी लम्बी सड़क और एक पुल (चाचीकला ब्रिज) का काम चल रहा है जो सितंबर 2020 तक पूरा हो जायेगा।

विकास के कार्यों का हवाला देते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इन क्षेत्रों में विकास कार्यों की गति तेजी से आगे बढ़ाई जा रही है। सोनभद्र के पीपर खाड़ में 480 छात्र क्षमता वाला एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय निर्माणाधीन है। सोनभद्र की घोरावल तहसील में आइटीआइ के मुख्य भवन का कार्य पूरा किया जा चुका है एवं प्रशिक्षार्थियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। हालांकि, अभी छात्रावास के भवन का निर्माण शुरू होना है। सोनभद्र में कौशल विकास के लिए भवन का निर्माण भी पूरा किया जा चुका है। जल आदि की व्यवस्था के बाद यहां भी जल्द ही युवाओं को प्रशिक्षण दिया जाने लगेगा। इन क्षेत्रों में सुगम संचार की भी व्यवस्था दुरुस्त की जा रही है।

मुख्यमंत्री में कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार किसानों, नौजवानों, महिलाओं, गरीब, वंचितों और शोषितों के लिए काम करने के लिए प्रतिबद्ध है। हाल ही में लोकसभा चुनावों का निर्विघ्न रूप से सम्पन्न होना, राज्य की प्रशासनिक और पुलिस व्यवस्था की कहानी अपने आप बयां करती है। इसके अलावा पहली बार काशी में प्रवासी भारतीय दिवस का आयोजन और प्रयागराज कुम्भ का सफलता पूर्वक आयोजना ही राज्य सरकार ने सकुशल सम्पन्न किया।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस