कोलकाता, जागरण संवाददाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के कोलकाता आवास पर पिछले चार दशक से काली पूजा हो रही है। कालीघाट क्षेत्र में स्थित अपने आवास में रविवार रात ममता बनर्जी ने काली पूजा की। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पूजा के लिए पूरे दिन का व्रत रखा, भोग बनाया। पूजा में कई वीवीआईपी, नेताओं मंत्रियों और अन्य लोगों ने हिस्सा लिया।  तृणमूल कांग्रेस सांसद अभिषेक बनर्जी ने पूजा के दौरान यज्ञ किया। 

बीते कुछ दिनों से तृणमूल कांग्रेस और राजभवन के बीच चल रहे वाकयुद्ध और कड़वाहट को भूल रविवार को बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ सपत्नीक मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के आवास पर आयोजित काली पूजा में शामिल हुए। रविवार शाम जैसे ही राज्यपाल अपनी गाड़ी से उतरे मुख्यमंत्री खुद अपने कालीघाट के हरिश मुखर्जी रोड आवास गेट से बाहर निकलीं और उनका स्वागत करते हुए अंदर ले गईं।

राज्यपाल ने यहां दो घंटे से अधिक का समय गुजारा। मुख्यमंत्री के अलावा शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी व अन्य मंत्रियों के साथ धनखड़ को बातचीत करते हुए देखा गया। उन्होंने यहां भोग (प्रसाद) खाया और ममता की मेहमाननवाजी से गदगद होकर कहा कि मैं अभिभूत हूं। ममता के घर के बाहर पत्रकारों से मुखातिब धनखड़ ने कहा कि मैं यहां आकर काफी खुश हूं। कई लोगों से मुलाकात हुई। मैंने वो गीत सुने जो मुख्यमंत्री ने लिखे हैं। मैंने उनसे आग्रह किया है कि वे मुझे अपने गीतों का सीडी दें।

मालूम हो कि ममता बनर्जी के आवास पर 1978 से ही कालीपूजा का आयोजन होते आ रहा है। दीपावली पर पूजा के दौरान प्रत्येक साल कई आम और खास जुटते हैं। इस साल भी काली पूजा के लिए मुख्यमंत्री ने अपने दरवाजे सभी के लिए खोल दिए थे। आम लोग भी काफी संख्या में पहुंचे थे।

पूजा में तमाम वीवीआइपी, कैबिनेट मंत्रियों, नेताओं और अन्य लोगों ने हिस्सा लिया। सुश्री बनर्जी के भतीजे और डायमंडहार्बर सीट से तृणमूल कांग्रेस सांसद अभिषेक बनर्जी ने पूजा के दौरान हवन किया। मुख्यमंत्री दिन में खुद भोग बनाते दिखीं। प्रत्येक आयोजन को सीएम ने सीधे सोशल साइट्स पर प्रसारित किया।   

बता दें कि हाल के दिनों में राज्यपाल व राज्य के मंत्रियों के बीच जुबानी जंग सुर्खियों में रही है। जादवपुर विश्वविद्यालय से लेकर दुर्गा पूजा कार्निवल, जियागंज से लेकर प्रशासनिक बैठकों से अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों के नदारद रहने तक को लेकर राज्यपाल व राज्य सरकार में टकराव देखा गया हैै। इन सभी मामलों को लेकर राज्यपाल ने राज्य सरकार पर करारा हमला बोला है। इसके जवाब में राज्य के मंत्रियों ने भी राज्यपाल पर पलटवार किया है। इस बीच शनिवार को खुद राज्यपाल ने सीएम के आमंत्रण की बात कही और कहा कि न्योता मिलने से बहुत खुश हूं और उत्सुकता से पूजा में शामिल होने का इंतजार कर रहा हूं। आशा है मुझे यहां किसी और सवाल का जवाब देने की जरुरत नहीं है।

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस