मंडी, हंसराज सैनी : कोरोना की दूसरी लहर की गति कम होते ही मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर चुनावी मोड पर आ गए हैं। कुल्लू जिले के आनी हलके के निरमंड में विकास कार्यों की झड़ी लगा जयराम ठाकुर ने मंडी संसदीय क्षेत्र के उपचुनाव के प्रचार का विधिवत आगाज कर दिया। क्षेत्र के विधायक किशोरी लाल व जनता ने जो मांगा मुख्यमंत्री ने भी देने में कोई कंजूसी नहीं दिखाई। क्षेत्र के जनता की वर्षों से चली आ रही एसडीएम कार्यालय की मांग को पूरा करने में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कोई देरी नहीं लगाई। जलशक्ति विभाग का उपमंडल कार्यालय खोलने सहित कई स्कूलों व स्वास्थ्य संस्थानों को अपग्रेड करने की घोषणा की। 72वें वनमहोत्सव की अध्यक्षता करने के बाद जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा आज वह इस मुकाम पर जनता की वजह से हैं, वह जनता के बीच रहना चाहते हैं, लेकिन कोरोना इसमें बाधक बन गया है। लोगों से मिलने की हसरत में दफन होकर रह गई है। पूर्व मुख्यमंत्री स्व. वीरभद्र सिंह  को याद करते हुए कहा वह एक दल के नहीं सबके प्रिय नेता थे। बकौल जयराम ठाकुर, उन्हें वीरभद्र सिंह बहुत प्यार करते थे। दोनों के दल अलग अलग थे। विचारधारा को लेकर झगड़ा आमने सामने होता था, फिर गले मिलकर हाथ पकड़ आगे बढ़ते थे। मकसद प्रदेश का विकास था। उन्होंने कहा पर्यावरण की दृष्टि से हिमाचल बेहतर स्थिति में हैं। वन भविष्य के लिए आवश्यक हैं। प्रदेश की जनता ने वनों को नष्ट होने से बचाया है। सरकार ने पर्यावरण संरक्षण का जिम्मा अब वार्ड सदस्यों को भी सौंपा है। रेडक्रास सोसायटी के सहयोग से एक लाख पौधे लगाए जाएंगे। पूर्व में रहे मुख्यमंत्रियों ने सहज परिस्थिति में रहकर काम किया है। कोरोना के झंझट ने उलझा कर रख दिया है, फिर भी सरकार ने विकास कार्यों की गति में कमी नहीं आने दी है। उन्होंने क्षेत्र की जनता से मंडी लोकसभा के उपचुनाव व 2022 के विधानसभा चुनाव के पहले की तरह सहयोग व आशीर्वाद मांगा।