लखनऊ, जेएनएन। नागरिकता संशोधन कानून (CAB) के खिलाफ आंदोलन कर रहे दिल्ली के जामिया विश्वविद्यालय में हुई पुलिस कार्रवाई पर आक्रोश की आग ने उत्तर प्रदेश को भी चपेट में ले लिया। बिल को लेकर अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्रों का चार दिन से चल रहा हंगामा रविवार देर शाम उग्र हो गया। वहीं, राजधानी लखनऊ में नदवा कॉलेज के छात्रों का देर रात से चल रहा हंगामा सोमवार सुबह और बढ़ गया। कॉलेज के बाहर कुछ शरारती तत्‍वों ने पत्‍थरबाजी की, ज‍िस पर पुल‍िस ने हवाई फायर‍िंंग कर उपद्रव‍ियों को खदेड़ा।  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी प्रदेशवासियों से शांति और सौहार्द्र की अपील की है।

तेजी से फैल रही अफवाहों के मद्देनजर उत्तर प्रदेश के छह जिलों में इंटरनेट सेवाओं पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। हालात को देखते हुए धारा 144 भी लागू की गई है। उत्तर प्रदेश पुलिस महानिरीक्षक (कानून व्यवस्था) प्रवीण कुमार ने बताया है कि प्रदेश में शांति के लिए सब चौकस हैं, पूरी तरह से एहतियात बरती जा रही है। अलीगढ़, बुलंदशहर, कासगंज, मेरठ, सहारनपुर और बरेली में धारा 144 लागू कर दी गई है। मेरठ सहारनपुर अलीगढ़ में इंटरनेट सेवाओं पर अस्थाई प्रतिबंध लगा दिया गया है।

सीएम ने की शांति की अपील

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेशवासियों से शांति और सौहार्द्र की अपील की है। उन्होंने कहा है कि नागरिकता संशोधन कानून के संदर्भ में कुछ निहित स्वार्थी तत्वों द्वारा फैलाई जाने वाली किसी भी प्रकार की अफवाह पर ध्यान न दें। उन्होंने कहा है कि प्रदेश सरकार हर नागरिक को सुरक्षा प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। इसके लिए यह भी आवश्यक है कि सभी के द्वारा कानून का पालन किया जाए। राज्य में कायम अमन-चैन के माहौल को प्रभावित करने की किसी को अनुमति नहीं हैं। मुख्यमंत्री ने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय परिसर के बाहर हुए विरोध प्रदर्शन के बाद डीजीपी ओपी सिंह से रिपोर्ट मांगी है। वहीं, डीजीपी ओपी सिंह का कहना है कि जामिया की घटना के बाद अफवाहें फैलीं और एएमयू के छात्र एकत्र हो गए। पुलिस ने उन्हें समझाने की कोशिश की और उनसे कहा कि परिसर से बाहर न निकलें, जिस पर छात्रों ने पत्थर फेंके। इस पर पुलिस ने भी आंसू गैस के गोले दागे। इस दौरान कम से कम 16-17 पुलिस अधिकारियों को भी चोटें आईं। मामला दर्ज किया गया। अब स्थिति नियंत्रण में है।

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्रों ने भी किया प्रदर्शन

प्रयागराज में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रों ने भी प्रदर्शन किया। दिल्ली और अलीगढ़ विश्वविद्यालय में उग्र विरोध को देखते हुए इलाहाबाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने सोमवार को विश्वविद्यालय बंद कर दिया गया है। मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल मौजूद है।

खाली कराए जा रहे हैं एएमयू के हॉस्टल, दो मुकदमे दर्ज

अलीगढ़ में नागरिक संशोधन कानून के खिलाफ एएमयू में हुए बवाल को लेकर देर रात तक पुलिस आरोपितों की धड़पकड़ में लगी रही। हॉस्टल खाली कराए जा रहे हैं। इसके लिए बसें मंगा ली गई हैं। जो ट्रेनें अलीगढ़ नहीं रुकतीं, उन्हें भी रोका गया है, ताकि छात्रों को भेजा जा सके। पुलिस ने दो मुकदमे दर्ज किए हैं। 18 पुलिस जवान घायल हुए हैं। 21 छात्रों को गिरफ्तार किया गया है। एएमयू के चारों ओर बड़ी संख्या में पुलिस, पीएसी व आरएएफ तैनात है। मुस्लिम बस्तियों में कारखाने बंद हैं। उधर, मेरठ, सहारनपुर आगरा, मथुरा, फीरोजाबाद, मैनपुरी व कासगंज में चौकसी बढ़ा दी गई है। कई स्थानों पर पर इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया है।

एएमयू में बवाल, पथराव और फायरिंग

कैब के विरोध में और जामिया के समर्थन में एएमयू छात्रों ने रविवार देर शाम बवाल कर दिया। प्रदर्शन के लिए निकली छात्रों की भीड़ पर पुलिस ने पानी की बौछार कर रोकने की कोशिश की तो छात्रों ने जमकर पथराव किया। जवाबी कार्रवाई करते हुए पुलिस ने लाठीचार्ज कर छात्रों को दौड़ा दिया। इस दौरान छात्रों ने पथराव के अलावा हवाई फायरिंग भी की, जबकि पुलिस ने रबर बुलेट दागी। इस दौरान प्रॉक्टोरियल टीम, डीआइजी डॉ. प्रीतेंदर सिंह, एसपी सिटी अभिषेक कुमार के अलावा आरएएफ व पुलिस के बीस जवान घायल हो गए। तीस छात्रों को भी चोटें आई हैं।

हालात काबू में पाने के लिए पुलिस आंसू के गोले छोड़ते हुए कैंपस में अंदर घुस गई। ऐसा पहली बार हुआ है जब एएमयू के अंदर व्रज वाहन गए। एक तरफ पुलिस छात्रों को खदेड़ रही थी, तो दूसरी तरफ छात्र लगातार पत्थरबाजी व हथगोले (देशी बम) छोड़ रहे थे। एएमयू के अंदर से 20 छात्रों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। देर रात तक पुलिस परिसर में ही थी। जिले में इंटरनेट सेवा सोमवार रात दस बजे तक के लिए बंद कर दी गई है। एएमयू में शिक्षण कार्य पांच जनवरी तक बंद कर दिया गया है। निजी स्कूलों ने सोमवार को अवकाश घोषित कर दिया है।

एएमयू के छात्रों के खिलाफ उतरे हिंदुत्ववादी

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के छात्रों के हिंदुत्व के विरोध में बोलने पर भाजयुमो कार्यकर्ताओं और हिंदुत्ववादी संगठनों में रविवार को उबाल आ गया। वे सड़कों पर उतर आए। एएमयू छात्रों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। प्रशासन को चेताया कि आग उगलने वाले छात्रों के खिलाफ सख्त कार्रवाई नहीं हुई तो हम एएमयू की ओर कूच कर देंगे। 

विरोध में सड़क पर उतरे नदवा के छात्र

जामिया में पुलिस के लाठीचार्ज के बाद राजधानी लखनऊ में भी देर रात हंगामा हुआ। नदवा कॉलेज के छात्रों ने सड़क जाम कर खूब हंगामा किया। मामला गंभीर होता देख पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा। इसके बाद छात्र भागकर कॉलेज के भीतर चले गए। नदवा और आसपास के इलाक़ों में फोर्स बढ़ा दी गई। देर रात तक छानबीन जारी रही। हालांकि, इस मामले में किसी को पकड़ा नहीं जा सका। पुलिस प्रदर्शनकारियों के खिलाफ एफआइआर दर्ज करने की तैयारी में है। दरअसल,  सोशल मीडिया पर जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी में हुए बवाल में पुलिस की गोली से हुई मौत की अफवाह वायरल होने पर यह हंगामा हुआ। इसी के बाद नदवा के सैकड़ों छात्र बाहर निकल आए और हंगामा कर जाम लगा दिया।

देवबंद में सतर्कता बढ़ाई गई, इंटरनेट सेवा बंद

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध को लेकर सहारनपुर जिला प्रशासन पूरी तरह अलर्ट पर है। एएमयू में हुए बवाल के बाद देवबंद समेत पूरे जिले में सतर्कता बढ़ा दी गई है। गत दिवस देवबंद के मदरसा छात्रों द्वारा स्टेट हाईवे को जाम कर हंगामा करने के बाद से ही एसएसपी का पूरा फोकस देवबंद पर है। देवबंद में एक कंपनी पीएसी तैनात कर दी गई है। साथ ही एसपी देहात, सीओ व थानों को 24 घंटे अलर्ट पर रहने को कहा है। खुफिया विभाग से मिले इनपुट के बाद जिला प्रशासन ने इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया है। डीएम आलोक कुमार पांडेय ने बताया कि इंटरनेट सेवा बंद करने का आदेश जारी कर दिया गया है। जिलाधिकारी के अनुसार, सोशल मीडिया के दुरुपयोग की आशंका के मद्देनजर यह आदेश दिया गया है। उन्होंने बताया कि सोमवार को स्कूल, कॉलेज यथावत खुले रहेंगे। दूसरी ओर देर रात मेरठ में भी इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई। साथ ही, पुलिस की चौकसी और बढ़ा दी गई है।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस