अलीगढ़, जेएनएन। पश्चिम उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में नागरिकता संशोधन विधेयक (CAB 2019) के खिलाफ हो रहे विरोध-प्रदर्शन को देखते हुए प्रशासन सख्त कदम उठाए हैं। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) में प्रदर्शन, मेयर की ओर से शुक्रवार को शांति मार्च निकालने का एलान और जुमे की नमाज देखते हुए प्रशासन ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं। अलीगढ़ शहर में इंटरनेट सेवा बंद करने का आदेश भी जारी किया गया है।

अलीगढ़ के एडीएम सिटी राकेश मालपाणी ने बताया कि इंटरनेट सेवा गुरुवार रात 12 बजे से ही बंद कर दी गई है। यह रोक शुक्रवार की शाम पांच बजे तक रहेगी। इसके अलावा शहर को 25 सेक्टरों में बांटा गया है। दो पालियों में 25-25 मजिस्ट्रेट लगाए गए हैं। तहसील स्तर पर एसडीएम व सीओ को सेक्टर बनाकर मजिस्ट्रेट तैनात करने के आदेश दिए गए हैं। हालांकि शांति मार्च निकालने के लिए जिला प्रशासन ने अनुमति नहीं दी है।

एएमयू में कैब के विरोध में जारी है प्रदर्शन

नागरिकता संशोधन विधेयक के विरोध में एएमयू में गुरुवार को तीसरे दिन भी प्रदर्शन किया। इसमें छात्राएं भी शामिल हुईं। इस दौरान बाबे सैयद गेट पर हुई सभा में अब्दुल्ला हॉल की छात्राओं ने प्रोबोस्ट पर उन्हें रोकने का आरोप लगाया। कहा हॉल पर ताला लगा दिया गया, जिसे तोड़कर आए हैं। विद्यार्थियों के आंदोलन का स्वराज पार्टी के संस्थापक योगेंद्र यादव व गोरखपुर आक्सीजन कांड के चर्चित डॉ. कफील खान ने समर्थन किया।

...वो बाबा साहब के संविधान को क्या समझेंगे

डॉ. कफील ने कहा कि, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) संविधान को मानने वाली नहीं, बल्कि नफरत की विचारधारा को फैलाने वाली है। डॉ. कफील खान ने कहा कि कैब लाकर अमित शाह कह रहे हैं कि हिंदू तो हिंदू बनेगा व मुसलमान मुस्लिम ही बनेगा। जिनके कपड़े खुद खून से सने हों वो बाबा साहब के संविधान को क्या समझेंगे? स्वराज पार्टी के संस्थापक योगेंद्र ने कहा कि नागरिकता संशोधन बिल में कुछ खास नहीं है। ये केवल असम-बंगाल चुनाव के लिए की जा रही वोट बैंक की राजनीति है। कहा 19 दिसंबर को पूरे देश में एक साथ जगह-जगह पर ऐसी ही सभाएं कर कैब नामंजूर की शपथ ली जाएगी।

फोन पर डराया गया

डॉ. कफील ने कहा कि जब वो एएमयू आ रहे थे तो पुलिस-प्रशासन का फोन आया कि एएमयू न जाएं, वरना बंद कर दिए जाएंगे, यह कह कर डराया गया। योगेंद्र यादव ने कहा कि, उनके पास भी पुलिस व एएमयू रजिस्ट्रार का फोन आया। उन्हें भी एएमयू जाने से रोका गया था।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस