मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

चंडीगढ़, [अनुराग अग्रवाल]। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद पहली बार हरियाणा आ रहे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का जींद दौरा खास होगा। वह आज राज्यसभा सदस्य व पूर्व केंद्रीय मंत्री चौ. बीरेंद्र सिंह के बुलावे पर हरियाणा आ रहे हैं। अमित शा‍ह जींद की जाट बांगर बेल्‍ट से आज रैली को संबोधित करेंगे और इसमें हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए बिगुल बजाएंगे।

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद शाह का पहला हरियाणा दौरा

शुक्रवार को बीरेंद्र सिंह को भाजपा में शामिल हुए पूरे पांच साल हो जाएंगे। रैली में जींद की धरती से शाह कोई बड़ा राजनीतिक संदेश दे सकते हैैं, जिसकी गूंज पड़ोसी मुल्कों तक सुनाई देगी। इसका असर हरियाणा में अक्टूबर में होने वाले विधानसभा चुनाव पर पडऩा तय है।

यह भी पढ़ें: जम्‍मू-कश्‍मीर से 370 हटने पर फिर सामने आई पाकिस्‍तान की बौखलाहट,अब उठाया यह कदम

पांच साल पहले अमित शाह ने ही बीरेंद्र सिंह को जींद में भाजपा में शामिल कराया था। अब पांच साल बाद बीरेंद्र सिंह भाजपा के शीर्ष नेतृत्व खासकर मोदी और शाह की जोड़ी के प्रति कृतज्ञता जाहिर करने के लिए रैली कर रहे हैं। इसके पीछे उनका राजनीतिक एजेंडा भी है। आइएएस बेटे बृजेंद्र सिंह को हिसार से चुनाव लड़ाने के लिए बीरेंद्र सिंह ने खुद के राजनीतिक करियर तक की परवाह नहीं की।

बीरेंद्र सिंह के बुलावे पर शुक्रवार को जींद की आस्था रैली में गरजेंगे

केंद्रीय मंत्री का पद छोड़ने के साथ ही उन्होंने बेटे को टिकट दिलाने के लिए राज्यसभा की सदस्यता से भी त्यागपत्र देने की पेशकश कर दी थी। उनका त्याग काम आया और बेटे ने हिसार से जीत दर्ज कराते हुए बीरेंद्र सिंह की राजनीतिक विरासत को बखूबी संभाल लिया है।

बीरेंद्र सिंह अब चाहते हैैं कि उनके राजनीतिक तौर पर सक्रिय रहते-रहते बृजेंद्र पूरी तरह से भाजपा के रंग में रंग जाएं। इसके लिए बीरेंद्र भाजपा संगठन व सरकार में लगातार अपने बेटे की पैरवी कर रहे हैैं। पिछले दिनों उन्होंने बेटे को मोदी कैबिनेट में जगह दिलाने की भरसक कोशिश की, लेकिन सफलता हाथ नहीं लग पाई। बीरेंद्र सिंह दीनबंधु सर छोटू राम के नाती और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के रिश्ते में भाई हैैं। उनकी पत्‍नी प्रेमलता जींद जिले के उचाना हलके से भाजपा की विधायक हैैं। बीरेंद्र सिंह का अकेला ऐसा परिवार है, जिसमें खुद वह राज्यसभा सदस्य हैं तो पत्‍नी विधायक और बेटा सांसद है।

यह भी पढ़ें: चंडीगढ़ को कंपा देने वाले सामूहिक दुष्‍कर्म मामले में बड़ा फैसला, दोषी दो ऑटो चालकों को ताउम्र कैद

भाजपा की आस्था रैली के जरिये अमित शाह लगे हाथ हरियाणा में चुनावी बिगुल बजाकर जाएंगे। रैली में मुख्यमंत्री मनोहर लाल अपनी पांच साल की सरकार का रिपोर्ट कार्ड पेश करेंगे। जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद चल रही प्रतिक्रियाओं के बीच अमित शाह जींद की धरती से कोई बड़ा राजनीतिक संदेश भी दे सकते हैैं, जिस पर पूरे देश और पड़ोसी मुल्कों की निगाह भी रहेगी।

मोदी को रोहतक बुला सर छोटू राम की प्रतिमा लगवा चुके बीरेंद्र सिंह 

इससे पहले बीरेंद्र सिंह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रोहतक बुलाकर अपने नाना दीनबंधु सर छोटू राम की आदमकद प्रतिमा का अनावरण करा चुके हैं। जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान जब सरकार में अस्थिरता का दौर चल रहा था, तब बीरेंद्र सिंह ने आंदोलनकारियों के साथ बातचीत कर मामले को निपटाने में अहम भूमिका निभाई थी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप