जेएनएन, लखनऊ। विधानमंडल का मानसून सत्र गुरुवार से शुरू हो रहा है। इसकी तैयारी के लिए सर्वदलीय बैठक बुधवार को विधानभवन में आयोजित की गई है। बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ सभी दलीय नेता भी शामिल होंगे। बैठक में सत्र को शांतिपूर्ण तरीके से चलाने पर जोर होगा।

यूपी विधानमंडल के दोनों सदनों में इस बार भी जोरदार हंगामा होना तय है। लोकसभा चुनाव बाद पहली बार सत्र शुरू होने जा रहा है। इसमें विपक्ष अलीगढ़ की घटना सहित कानून-व्यवस्था और गन्ना किसानों का बकाया सहित कई मुद्दों पर राज्य सरकार को घेरने की रणनीति बना रहा है, वहीं राज्य सरकार भी विपक्ष को करारा जवाब देने की तैयारी कर रही है।

सपा, बसपा और कांग्रेस जैसे प्रमुख विपक्षी दल प्रदेश की कानून-व्यवस्था को लेकर सरकार को घेरने की रणनीति बना रहे हैं। इस रणनीति को इन दलों की विधानमंडल दलों की बैठकों में अंतिम रूप दिया जाएगा, जबकि राज्य सरकार भी विपक्षी दलों की रणनीति को विफल करने के लिए अपने मत्रियों को पूरी तैयारी के साथ सदन में आने के निर्देश देने जा रही है।

सर्वदलीय बैठक के बाद विधानसभा अध्यक्ष हृदयनारायण दीक्षित विधानसभा परिसर में की जाने वाली सुरक्षा व्यवस्था की अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे, जिससे सत्र के दौरान विधानभवन परिसर की सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद रहे। विधानसभा मंडप की भी सफाई की व्यवस्था की जा रही है। साथ ही माइक व कैमरे आदि की चेकिंग का काम भी चल रहा है। सत्र के दौरान सभी विभागों के अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव और सचिव लखनऊ से बाहर नहीं जा सकेंगे।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस