लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर समाजवादी पार्टी (SP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मंगलवार को हमला बोला। अखिलेश ने लखनऊ स्थित पार्टी कार्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाकार राज्य सरकार पर तमाम सवाल उठाए। इस दौरान सुरक्षा के मुद्दे पर अखिलेश का दर्द छलक गया।

अखिलेश यादव ने योगी सरकार से सवाल किया कि केवल उनकी एनएसजी (NSG) को क्यों हटाया गया? अखिलेश यादव ने कहा कि सरकार ये बताए हमारी प्रेस कॉन्फ्रेंस में एलआईयू का कोई अफसर कैसे आ सकता है? केवल हमारी एनएसजी को क्यों हटाया गया? साथ ही कहा कि मुझे सुरक्षा की जरूरत नहीं, मुझे साइकिल चलानी है और साइकिल बहुत तेज चलेगी।

कन्नौज में अखिलेश ने बोला था- मिल रही धमकी

बता दें कि अखिलेश यादव शनिवार को ने कन्नौज में यह कह कर सबको चौंका दिया था कि उन्हें जान से मारने की धमकी मिली है। अखिलेश ने जनसभा के दौरान कहा था कि उनके पास एक-दो दिन पहले फोन पर मैसेज आया था, जिसमें उन्हें जान से मारने की धमकी दी गई थी। उन्होंने कहा था कि एक-दो दिन में इसको लेकर मैं खुलासा करूंगा। वहीं कन्नौज में ही उनकी जनसभा में एक शख्स अचानक घुस आया, जिसको उनकी सुरक्षा में लगे लोगों ने पकड़ लिया और उसकी पिटाई करने के बाद बंधक बना लिया। इस पर अखिलेश यादव ने कहा कि धमकी मिलने वाली बात आज पुख्ता हो गई है।

राजनेताओं को बदनाम करने की साजिश

अखिलेश यादव ने ट्वीट लिखा, देश की राजनीति व्यक्तिगत धमकियों से होती हुई सार्वजनिक मंचों पर षड्यंत्रकारियों तक को भेजकर राजनेताओं को बदनाम करने की साजिश के निकृष्टतम दौर से गुजर रही है, लेकिन आज की समझदार जनता सब समझकर सत्ताधारियों के झांसे में नहीं आनेवाली है। बल्कि सत्ता का विरोध करने वालों के साथ खड़ी है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि वाट्सएप के जरिये उनको लगातार आपत्तिजनक टिप्पणियां भेजी जा रही हैं। आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाला खुद को बीजेपी का कार्यकर्ता बता रहा है। अखिलेश यादव ने वाट्सएप मैसेज का स्क्रीन शॉट भी ट्वीट किया।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस