लखनऊ, जेएनएन। किसानों को धान और गन्ने का अधिक मूल्य देने का आग्रह कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर किया, इस पर कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही ने किसानों के हित में सरकार द्वारा उठाए गए कदम गिनाए। साथ ही कहा कि प्रियंका धान के दाम कम होने की बात कह रही हैं। वह याद रखें कि किसानों की बदहाली के लिए कांग्रेस ही जिम्मेदार है। कांग्रेस ने उनके लिए काम किया होता तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य तय नहीं करना पड़ता।

कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही ने गुरुवार को विधानभवन स्थित एपीसी सभागार में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि जब केंद्र में कांग्रेस की सरकार थी, तब 2014 में धान 1300 रुपये क्विंटल बिकती थी, जबकि आज प्रदेश में कहीं भी 1700 रुपये प्रति क्विंटल से कम नहीं है। उन्होंने बताया कि 23 दिसंबर को पूर्व प्रधानमंत्री चौ. चरणसिंह का जन्मदिन किसान दिवस के रूप में मनाया जाएगा। 33 किसान और तीन महिला किसानों को प्रदेश स्तर पर सम्मानित किया जाएगा। जिला और विकासखंड स्तर पर भी किसानों का सम्मान होगा।

पराली और अवशेष जलाने की हुईं 5510 घटनाएं

कृषि मंत्री ने बताया कि पराली और अवशेष जलाने की अब तक कुल 5510 घटनाएं सामने आई हैं। नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के आदेश पर सभी में कार्रवाई की गई है।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस