लखनऊ, जेएनएन। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अयोध्या में रामलला का मंदिर बनने की प्रक्रिया गति पकड़ रही है। इसके साथ ही अयोध्या के व्यापक कालाकल्प की तैयारी भी हो गई है। केंद्र सरकार के सहयोग से अब उत्तर प्रदेश अयोध्या में एयरपोर्ट बनाने जा रही है।

अयोध्या में रामलला के दर्शन करने शीघ्र ही हवाई जहाज से भी जाया जा सकेगा। इसके लिए प्रदेश सरकार अयोध्या में एयरपोर्ट बनाने जा रही है। यह जानकारी केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने गुरुवार को लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में दी।

हरदीप पुरी ने बताया कि एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया को उत्तर प्रदेश सरकार से अयोध्या एयरपोर्ट बनाने का प्रस्ताव मिल चुका है। प्रदेश सरकार वहां पहले से स्थित एयर स्ट्रिप को रीजनल कनेक्टिविटी स्कीम-उड़ान के तहत एयरपोर्ट विकसित करना चाहती है। इसके लिए प्रदेश सरकार 6.40 अरब रुपये पहले ही मंजूर कर चुकी है। सरकार ने एक नवंबर को ही जमीन खरीद के लिए 1.25 अरब रुपये और जारी किए हैं।

पुरी ने बताया भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) को उत्तर प्रदेश सरकार का प्रस्ताव मिला है। राज्य सरकार क्षेत्रीय संपर्क योजना (आरसीएस) के तहत राज्य निर्माण और डिजाइन सेवाओं (यूपी जल बोर्ड) के माध्यम से मौजूदा हवाई पट्टी का विकास करेगी। पिछले कुछ समय में अयोध्या में एक हवाई अड्डे के निर्माण की मांग उठाई गई है। दस नवंबर को दिल्ली भाजपा इकाई के प्रमुख मनोज तिवारी ने पुरी को लिखा था कि अयोध्या में एक अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे की मांग करें क्योंकि पवित्र शहर राम मंदिर के निर्माण के बाद दुनिया भर के हिंदुओं के लिए आस्था का केंद्र बन जाएगा।

वहीं, गोरखपुर एयरपोर्ट को अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट विकसित करने के प्रश्न पर हरदीप पुरी ने कहा कि इसके लिए प्रदेश सरकार 60 एकड़ अतिरिक्त भूमि नहीं मुहैया करा पाई। अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट बनाने के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने अतिरिक्त जमीन की मांग की थी। लेकिन, एयरपोर्ट के आस-पास वन भूमि होने के कारण इसे प्रदेश सरकार नहीं दे पाई। 

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस