कोलकता, जेएनएन। लोकसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद से पश्चिम बंगाल में फिर से जो हिंसा शुरू हुई है वह थमने का नाम नहीं ले रही है। रविवार की रात तो महानगर से सटे उत्तर 24 परगना जिले के कांकीनाड़ा में एक और भाजपा कार्यकर्ता की गोली व बम मारकर हत्या कर दी गई। उसका नाम चंदन साव (35 वर्ष) है। इससे पहले शुक्रवार की रात को नदिया के चाकदा में एक भाजपा कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इन हत्याओं के लिए भाजपा ने तृणमूल पर आरोप लगाया है। पुलिस का कहना है कि राजनीतिक कारणों से हत्या की गई है यहा फिर अन्य किसी वजह से इसकी जांच की जा रही है।

वहीं भाजपा का कहना है कि साव एक समय तृणमूल का सक्रिय कार्यकर्ता था। वह तृणमूल को छोड़कर भाजपा में शामिल हो गया था जिसकी वजह से हत्या की गई है। बताते चलें कि बैरकपुर लोकसभा सीट के मतदान से पहले ही इस इलाके में हिंसा शुरू हो गई थी जो अब तक जारी है। इस सीट को भाजपा ने जीत लिया है। यही नहीं इस लोकसभा के अधीन भाटपड़ा विधानसभा सीट के उपचुनाव में भी भाजपा को जीत मिली है। इस हत्या के बाद उत्तर 24 परगना जिले में भाजपा ने जबर्दस्त प्रदर्शन किया और आरोपितों को गिरफ्तार करने की मांग की है। 

गौरतलब है कि राज्य के कई शहरों में हिंसक वारदात हो रही हैं। नादिया जिले में चकदह में शुक्रवार रात अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर संतू घोष की हत्या कर दी थी। जानकारी के मुताबिक संतू रात के करीब नौ बजे घर लौटा था। उसे कुछ युवक घर से बुलाकर ले गए और एक मैदान में ले जाकर गोली मार दी और फरार हो गए।

संतू को अपना समर्थक बताते हुए भाजपा ने शनिवार को ट्रेनें रोककर विरोध-प्रदर्शन किया। भाजपा का कहना है कि संतू कुछ दिन पहले ही तृणमूल छोड़कर भाजपा में शामिल हुआ था। भाजपा नेताओं ने सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के नेताओं के इशारे पर हत्या करवाने का आरोप लगाया है। मौके पर पहुंची पुलिस ने लोगों को शांति बनाए रखने की अपील की।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस