जम्मू, एएनआइ। जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद राज्य में अलग-अलग आतंकी घटनाओं में मारे गए कश्मीरी और गैरकश्मीरी नागरिकों को लेकर गृह मंत्रालय ने लोकसभा में एक रिपोर्ट पेश की है। इस रिपोर्ट के मुताबिक, 5 अगस्त, 2019 से अब तक राज्य में घटी आतंकवादी घटनाओं में गैर-कश्मीरी मजदूरों समेत 19 नागरिकों की मौत हो चुकी है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि मृतकों के परिजनों को जम्मू-कश्मीर सरकार की ओर से 1-1 लाख और केंद्र सरकार की तरफ से 5-5 लाख रुपये मुआवजे के तौर पर दिया गया है। हाल ही में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा था कि जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान हटाये जाने के बाद से आतंकी घटनाएं ना के बराबर हुई हैं और राज्य में स्थिति तेजी से सामान्य हो रही है।

जानकारी हो कि संसद के शीतकालीन सत्र का आज 12वां दिन है। इस दौरान लोकसभा में गृह मंत्रालय ने कहा कि सीमा पार से घुसपैठ के प्रयासों की संख्या में वृद्धि हुई है। 5 अगस्त 2019 से 31 अक्टूबर 2019 के बीच 84 बार घुसपैठ का प्रयास किया गया है। जबकि 9 मई से 4 अगस्त के बीच 53 बार घुसपैठ का प्रयास किया गया ।

जानकारी हो कि जम्मू और कश्मीर में 370 हटाए जाने के बाद से आतंकियों की बौखलाहट बनी हुई है।  आतंकियों ने पिछले दिनों कुलगाम में हमला कर 5 मजदूरों की मौत कर दी थी। मारे गए सभी मजदूर कश्मीर से बाहर के थे। जम्मू और कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद से घाटी में ये सबसे बड़ा आतंकी हमला था।आतंकियों की कायराना हरकत से साफ था कि वे कश्मीर पर मोदी सरकार के फैसले से बौखलाए हुए हैं और लगातार आम नागरिकों को निशाना बना रहे हैं।

कुलगाम में आतंकी हमले से पहले सुरक्षा एजेंसियों ने 48 घंटे का अलर्ट भी जारी किया था। गौरतलब है कि अनुच्छेद 370 को इस साल 5 अगस्त को ही निष्प्रभावी किया गया था। इसके बाद से ही आतंकी बौखलाए हुए हैं।370 हटाए जाने के बाद आतंकी सेब व्यापारी और मजदूरों को खासतौर से निशाना बना रहे हैं। आतंकियों ने अनंतनाग में ट्रक डाइवर की हत्या कर दी थी। मृतक का नाम नारायण दत्त था। 7 दिनों के अंदर ट्रक ड्राइवर पर ये चौथा हमला था। इससे पहले शोपियां में तीन हमले हुए थे। एक अज्ञात हथियारबंद आतंकी ने अनंतनाग के कंडीजल इलाके में इस वारदात को अंजाम दिया था। मृतक जम्मू कश्मीर के रियासी जिले का ही रहने वाला था।

इससे पहले आतंकियों ने सेब लदे दो ट्रकों में आग लगा दी और ड्राइवर को गोली मार दी थी।सोपोर में भी आतंकियों ने सेब से भरे ट्रक को आग लगा दी थी। इसके अलावा राजस्थान के भरतपुर के रहने वाले 40 वर्षीय ट्रक ड्राइवर शरीफ खान की आतंकियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी और ट्रक को आग के हवाले कर दिया था।

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप