जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। अवैध रोहिंग्या घुसपैठियों को मुफ्त में फ्लैट देने के मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर भाजपा का हमला जारी है। केंद्रीय सूचना व प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने दिल्ली सरकार की ओर से एनडीएमसी को 23 जून 2021 को भेजे गए पत्र का हवाला देते हुए कहा कि अरविंद केजरीवाल को इसका जवाब देना होगा। पत्र में एनडीएमसी को बक्करवाला में गरीबों के लिए बनाए गए फ्लैट को रोहिंग्याओं को देने के लिए कहा गया था।

अनुराग ठाकुर में दिल्ली सरकार और खासतौर पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर हमला बोलते हुए कहा कि उन्हीं के इशारे पर आप विधायक अमानुल्ला खान रोहिंग्याओं को मुफ्त राशन, पानी, बिजली उपलब्ध करा रहे हैं और अब खुद वे मुफ्त फ्लैट भी देने की कोशिश में जुटे थे।

अनुराग ठाकुर ने अरविंद केजरीवाल पर राजनीति के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा से समझौता करने का आरोप लगाते हुए कहा कि मोदी सरकार बार-बार रोहिंग्या घुसपैठियों को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बताती रही है और उनके वापसी के लिए विदेश मंत्रालय के मार्फत कोशिश भी जा रही है। अनुराग ठाकुर ने कहा कि अब अरविंद केजरीवाल को यह बताना ही होगा कि रोहिंग्या घुसपैठियों को मुफ्त में प्लैट देने के लिए जवाबदेह कौन है।

उन्होंने कहा कि केजरीवाल जवाबदेही से भाग नहीं सकते हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि केजरीवाल आठ साल से मुख्यमंत्री से लेकिन उनके पास कोई विभाग नहीं है। उनके स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन घोटाले के आरोप में जेल में है और वे उसके खिलाफ कार्रवाई करने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं। इसी तरह से उप मुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया खुद 144 करोड़ के शराब घोटाले में फंसे हुए हैं। लेकिन अरविंद केजरीवाल किसी की जबावदेही लेने को तैयार नहीं है।

रोहिंग्या घुसपैठियों को मुफ्त फ्लैट देने के मामले की जांच कराने की मांग को लेकर मनीष सिसौदिया द्वारा गृहमंत्री अमित शाह को लिखे पत्र के बारे में पूछे जाने पर अनुराग ठाकुर ने कहा कि केजरीवाल सरकार ने अब तक किन घोटाले की जांच कराई है। उनके अनुसार यह सिर्फ मामले को टालने के लिए किया जा रहा है, जो अब संभव नहीं है। उन्होंने साफ किया कि अरविंद केजरीवाल अपनी जवाबदेही से बच नहीं सकते हैं।

Edited By: Krishna Bihari Singh