नई दिल्‍ली। 11 करोड़ से अधिक के पीएनबी घोटाले के भगोड़े आरोपी और हीरा कारोबारी नीरव मोदी पर एक बार फिर सियासत गरम हो गई है। इस मामले में केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने सिलसिलेवार चार ट्वीट कर आरोप लगाया है कि कांग्रेस नीरव मोदी को बचाने की कोशिश में जी जान के साथ जुटी है। उन्‍होंने अपने ट्वीट में आरोप लगाया है कि कांग्रेस के एक नेता ने नीरव मोदी की ओर से कोर्ट में गवाही दी है। उन्होंने कहा कि नीरव मोदी के खिलाफ प्रत्यर्पण की कार्यवाही में कांग्रेस के एक नेता और उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश बचाव पक्ष के गवाह के तौर पर पेश हुए हैं।

उन्‍होंने ट्वीट के जरिए पूछा है कि कांग्रेस नीरव मोदी को क्यों बचाना चाहती है? उन्‍होंने ट्वीट के जरिए कांग्रेस के इस प्रयास की भर्त्सना करते हुए कहा कि सरकार इसमें कांग्रेस को सफल नहीं होने देगी। उन्‍होंने कहा कि आज जब नरेंद्र मोदी सरकार नीरव मोदी को भारत लाने की कोशिश कर रही है तो कांग्रेस का एक सदस्य और पूर्व जज उसको बचाने की कोशिश कर रहा है। यही कांग्रेस की असलियत है। 

रविशंकर प्रसाद ने अपने एक ट्वीट में कहा है कि कहा कि अभय थिप्‍से जो कि एक पूर्व जज हैं, जिन्‍होंने राहुल गांधी और अशोक गहलोत की मौजूदगी में कांग्रेस की सदस्‍यता हासिल की थी। उनके मुताबिक थिप्‍से नीरव मोदी मामले बतौर एक्‍सपर्ट विटनेस पेश हुए हैं। थिप्‍से ने लंदन की कोर्ट को कहा है कि नीरव मोदी के खिलाफ कोई केस नहीं है। उनको बचाने की पूरी कोशिश की गई है। उन्‍होंने ये भी कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने रिटायरमेंट से महज दस माह पहले उनका ट्रांसफर प्रशासनिक आधार पर मुंबई से इलाहाबाद हाईकोर्ट किया था। 

आपको बता दें कि पीएनबी ने 11500 करोड़ रुपये के घोटाले के मामले में अरबपति हीरा कारोबारी नीरव मोदी और आभूषण बनाने वाली कंपनी के खिलाफ सीबीआई में शिकायत दर्ज कराई है। सीबीआई की गिरफ्त में आने से पहले ही नीरव मोदी देश छोड़कर भाग चुका था। वो फिलहाल लंदन में है और भारत ने उसके प्रत्‍यर्पण को लेकर वहां की कोर्ट में अपील की हुई है जो विचाराधीन है।

Posted By: Kamal Verma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस