कोलकाता, जेएनएन। पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान हिंसा थमने का नाम ही नहीं ले रही है। बीती रात महानगर से सटे दमदम लोकसभा क्षेत्र के नागर बाजार में भाजपा के वरिष्ठ नेता मुकुल राय की गाड़ी में रात करीब 11:15 बजे तोड़फोड़ की गई। आरोप तृणमूल कांग्रेस समर्थकों पर लगा है। यही नहीं एक घंटे से अधिक समय तक मुकुल राय समेत भाजपा के अन्य नेताओं को एक मकान में घेर कर रखा गया है।

बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दमदम में जनसभा को संबोधित करने के बाद भाजपा नेता मुकुल राय एक व्यक्ति के घर में जन्मदिन की पार्टी में शामिल होने के लिए नागर बाजार स्थित एक मकान में गए थे। तभी अचानक सैकड़ों लोग एकत्रित हो गए और गाड़ी में तोड़फोड़ करने लगे तोड़फोड़ करने वाले सभी लोगों को तृणमूल समर्थक बताया जा रहा है। पास में ही पुलिस चौकी होने के बावजूद एक दो पुलिस वाले ही वहां दिखाई दिए और सब लोग वहां तोड़फोड़ करते दिखे।

हालांकि, तृणमूल के नेताओं का कहना है कि इस घटना से उनके पार्टी समर्थकों का कुछ लेना-देना नहीं है। तृणमूल का आरोप है कि भाजपा नेता वहां रुपये बांटने के लिए पहुंचे थे। 12:00 बजे के बाद भारी संख्या में पुलिस व केंद्रीय बल मौके पर पहुंचने के बाद तोड़फोड़ करने वालों को हिरासत में लेकर साथ ले गए।

गौरतलब है कि सातवें और अंतिम चरण के चुनाव में बंगाल में राजनीतिक घमासान चरम पर पहुंच चुका है। मंगलवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान हमले व ईश्वरचंद्र विद्यासागर की प्रतिमा को तोड़ने को लेकर आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। इसी बीच चुनाव आयोग ने बंगाल को दो शीर्ष अधिकारियों गृह सचिव, एडीजी सीआइडी को पद से हटा दिया। साथ ही चुनाव प्रचार का करीब 19 घंटे कम कर दिया।

इसके बाद तो मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का गुस्सा सातवें आसमान पर है। वह इन सबके लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहरा रही है। वहीं, भाजपा ने तृणमूल पर मूर्ति तोड़ने से लेकर हमला करने तक का आरोप लगा रही है। इसी को लेकर गुरुवार को टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुनौती देते हुए कहा है कि वे आरोपों को साबित करे वरना हम उन्हें जेल भेज देंगे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021