style="text-align: justify;"> नई दिल्ली (जेएनएन)। राज्यसभा चुनाव में भाजपा ने बड़ा दांव खेल दिया है। इससे मायावती के उम्मीदों पर पानी फेर सकता है। दरअसल, यूपी में 37 विधायकों के समर्थन से एक राज्यसभा सीट बनती है। भाजपा प्लानिंग कर रही है कि यदि उसके दो विधायक वोट न डालें तो यह आंकड़ा घटकर 36 हो सकता है। आंकड़ा घटने का फायदा भाजपा को होगा है, क्योंकि बसपा की क्रॉस वोटिंग से भाजपा की मुश्किलें बढ़ रही हैं। बहरहाल, सियासी तिकड़मों का यह दौर आज शाम तक जारी रहेगी। किसने- किसको वोट दिया, कहां क्रॉस वोटिंग हुई, यह तो रात तक स्पष्ट होगा।
राजा भैय्या पर सस्पेंस
रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैय्या यूपी में निर्दलीय विधायक हैं। अब तक इन्होंने अपने पत्ते नहीं खोले थे, लेकिन शुक्रवार सुबह ऐलान किया कि वे अखिलेश यादव यानी सपा के साथ हैं, लेकिन मायावती की पार्टी के उम्मीदवार को वोट नहीं देंगे। इस तरह राजा भैय्या के वोट देने पर अब तक सस्पेंस है।
बागी बिगाड़ सकते हैं गणित
 नरेश अग्रवाल के सपा छोड़कर भाजपा में शामिल होने के साथ ही तय हो गया था कि उनका सपा विधायक पुत्र नितिन अग्रवाल भाजपा को वोट देगा। हालांकि सपा दावा कर रही थी कि उसके सभी विधायक साथ हैं, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। नितिन ने भाजपा को वोट दिया। वहीं बसपा के एक अन्य विधायक अनिल सिंह ने भी भाजपा को वोट देकर बहनजी को झटका दिया।
माया को अनिल सिंह ने दिया झटका 
इससे पहले राज्‍यसभा चुनाव के दौरान बसपा सुप्रीमो मायावती को बड़ा झटका लगा। उन्नाव की पुरवा सीट से बसपा विधायक अनिल सिंह ने वोटिंग से पहले मीडिया से बातचीत में कहा कि वह महाराजजी (योगी आदित्यनाथ) के साथ हैं। मतदान के लिए जाते वक्त अनिल सिंह ने कहा कि मैं अंतरात्मा की आवाज पर वोट करूंगा। इसके साथ ही राज्यसभा चुनाव में पहली क्रॉस वोटिंग हुई है। 
1-1 वोट जुटाने की जद्दोजहद
यूपी के बेहद दिलचस्‍प राज्‍यसभा चुनाव में जहां सभी राजनीतिक दल एक-एक वोट को सहेजने में लगे हैं, वहीं राजा भैया का यह बयान काफी मायने रखता है। यूपी के राजनीतिक गलियारे में राजा भैया के रुख को लेकर कई अटकलें लगाई जा रही थीं। हालांकि राजा भैया का यह ट्विटर अकाउंट वेरिफाइड नहीं है। राजा भैया के वोट देने पर सस्पेंस बना हुआ है।
समझिए वोटों का गणित
फिलहाल वोटों का गणित कुछ इस तरह से है कि भाजपा 8 सीटें आसानी से जीतती दिख रही है और 9वीं सीट के लिए उसकी कोशिशें जारी हैं। उधर, बीएसपी के पास 35 वोट हैं, उसे 2 वोट कम पड़ रहे हैं। इसमें 17 विधायक बसपा के, 10 सपा के, 7 कांग्रेस के और 1 राष्ट्रीय लोकदल विधायक का वोट शामिल है। दूसरी तरफ, सपा से राज्यसभा के लिए जया बच्चन भी मैदान में हैं।

Posted By: Sanjeev Tiwari