नई दिल्ली, आइएएनएस। कोरोना वायरस महामारी के कारण संसद की कार्यवाही अनिश्चितकाल तक स्थगित होने के बाद विभागों से संबंधित संसद की स्थायी समितियों ने अपना कामकाज शुरू कर दिया है। ऐसे में उपराष्ट्रपति एवं राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू ने शुक्रवार को कहा कि समितियों ने सतर्कता के साथ कामकाज शुरू किया है। उन्होंने उम्मीद जताई कि ये समितियां सामान्य रूप से अपना काम करती रहेंगी।नायडू ने कहा, 'राज्यसभा की आठ समितियों में से एक विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी पर समिति की शुक्रवार को बैठक हुई। गृह मामलों पर समिति की बैठक अगले सप्ताह होगी।'

उन्होंने उल्लेख किया कि गृह मामलों पर समिति की पहली बैठक जून में होनी थी, लेकिन सदस्यों के कोविड-19 को लेकर चिंतित रहने के कारण नहीं हो सकी। कोरोना महामारी ने इन समितियों के कामकाज पर ग्रहण लगा दिया है। ये समितियां संसद की ओर से काम करती हैं।.

लॉकडाउन के बाद पहली बार हुई विज्ञान एवं तकनीक की स्थायी समिति की बैठक

कोरोना के कारण देश में लागू लॉकडाउन के बाद शुक्रवार को पहली बार विज्ञान एवं तकनीक और पर्यावरण व जलवायु परिवर्तन पर संसद की स्थायी समित की बैठक हुई। कांग्रेस नेता जयराम रमेश के नेतृत्व वाली इस समिति की बैठक 23 मार्च के बाद शुक्रवार को पहली बार हुई बैठक पर वेंकैया नायडू ने खुशी जताई है। उन्होंने कहा कि बैठक में विलंब जिस कारण से हुआ उस पर हमारा कोई वश नहीं था। नायडू ने अपने ट्वीट में कहा कि संसद के पिछले सत्र का अंतिम कार्यदिवस 23 मार्च के करीब साढ़े तीन माह बाद की स्थायी समिति की बैठक होने पर मुझे बहुत खुशी हुई है।

उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी का असर इन समितियों पर भी पड़ा है जो संसद की ओर से काम करती हैं। उन्होंने कहा कि इन बैठकों को सुचारु रूप से कराने के लिए शारीरिक दूरी और मास्क पहनने जैसे नियमों का पालन किया गया। मुझे उम्मीद है कि ये समितियां अपने-अपने क्षेत्र से संबंधित मामलों की ठीक से जांच-परख करेंगी।

Posted By: Shashank Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस