उज्जैन, राज्‍य ब्‍यूरो। आज देश में अमीरों और गरीबों के बीच बड़ी खाई है। गरीब पैदल चलते रहे और अमीर घर में एसी में बैठ रामायण-महाभारत देखते रहे। गरीब ट्रेन और ट्रकों से कुचले गए और अमीर हवाई जहाज से अपने कुत्तों को भेजते रहे। इस खाई को पाटना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए बड़ी चुनौती है। यह खाई पटेगी तो ही देश में राम राज्य आएगा। 

भाजपा नेत्री ने कहा- यह खाई पटेगी तभी राम राज्य आएगा 

यह बात सोमवार को मध्य प्रदेश के उज्जैन स्थित महाकाल मंदिर में दर्शन के लिए आईं भाजपा नेत्री और मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने कही। मालूम हो, कोरोना संक्रमण के कारण लॉकडाउन की वजह से लाखों मजदूरों को पैदल चलकर अपने-अपने गांव तक पहुंचना पड़ा था। इस पर विपक्षी दल केंद्र सरकार पर लगातार निशाना साधते रहे हैं।

उमा भारती ने राम मंदिर को लेकर कहा कि राम मंदिर के लिए 500 साल संघर्ष चला और आखिरकार अभियान सफल रहा। इस अभियान में आस्था, शौर्य और मर्यादा का मेल था। आज भी हम पर केस चल रहा है। कोर्ट से जो भी फैसला आएगा, मैं उसे वरदान मानूंगी। पत्थर पर राम नाम लिख दो तो वे तर जाते हैं, हम पर भी राम लिखा है। हम भी तर गए, फिर भी मेरे लिए राम जन्मभूमि पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का दिन बड़ा था। 

क्या मुहूर्त, कौन-कौन रहेगा, यह सोचने वाला छोटा पड़ जाएगा 

अयोध्या में पांच अगस्त को हो रहे भूमिपूजन के मुहूर्त पर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि क्या मुहूर्त रहेगा और कौन-कौन वहां आएगा, यह सोचने वाला छोटा पड़ जाएगा। उन्होंने कहा कि कई देश सांप्रदायिकता की बात करते हैं। बराक ओबामा जब भारत आए तो प्रोटोकॉल में मैं भी थी। यहां हमने उन्हें खूब खिलाया-पिलाया। यहां से अमेरिका गए तो सबसे पहला बयान यह दिया कि भारत में सांप्रदायिक सद्भाव की कमी है। अभी हमने देखा कि किसी तरह अमेरिका में अश्वेतों ने प्रदर्शन किया। इससे अमेरिका की पोल खुली है।

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021