बेंगलुरु, एजेंसी। कर्नाटक में जल्द ही यूनिफॉर्म सिविल कोड लागू किया जा सकता है। राज्य के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने शनिवार को कहा कि उनकी सरकार समानता सुनिश्चित करने के लिए राज्य में समान नागरिक संहिता (यूसीसी) को लागू करने पर गंभीरता से विचार कर रही है। भारतीय संविधान दिवस के अवसर पर उन्होंने कहा कि उनकी सरकार यूसीसी को लागू करने पर बहुत गंभीरता से विचार कर रही है क्योंकि यह राष्ट्रीय स्तर पर भाजपा के मुख्य घोषणापत्र का हिस्सा है।

राज्यों में गठित सम्मितों पर विचार कर रही सरकार 

बोम्मई के अनुसार, राज्य सरकार यूसीसी को लागू करने के लिए विभिन्न राज्यों में गठित विभिन्न समितियों पर विचार कर रही है ताकि इस पर फैसला लेने से पहले सभी पहलुओं को जाना जा सके। शुक्रवार को शिवमोग्गा में भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए भी सीएम ने कहा कि संविधान की प्रस्तावना समानता और बंधुत्व की बात करती है, इसलिए इस कानून को लागू करना जरूरी है।

देश और राज्य स्तर पर चल रहा विचार

यूसीसी को लागू करने की अपनी प्रतिबद्धता की पुष्टि करते हुए सीएम ने कहा कि हम दीनदयाल उपाध्याय के समय से समान नागरिक संहिता के बारे में बात कर रहे हैं। देश और राज्य स्तर पर इस पर गंभीर विचार चल रहा है। उन्होंने कहा कि सही समय आने पर इसे लागू करने का भी इरादा है।

गुजरात में भी भाजपा ने किया यूसीसी लाने का वादा

बता दें कि गुजरात चुनाव की घोषणा होते ही भाजपा ने वहां समान आचार संहिता लाने का वादा किया है। भाजपा की इस घोषणा को चुनाव के मद्देनजर बड़ा दांव माना जा रहा है। इस बीच आज भी भाजपा ने गुजरात के चुनावी घोषणा पत्र में यूसीसी लागू करने का वादा किया है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने संकल्प पत्र जारी कर कहा कि यूसीसी का कार्यान्वयन गुजरात यूसीसी समिति की सिफारिशों के आधार पर होगा।

यह भी पढ़ें- खास बातचीतः फियो डीजी अजय सहाय के अनुसार भारत अपनी शिपिंग लाइन खड़ी करे तो हर साल 25 अरब डॉलर रेमिटेंस बचेगा

Fact Check : श्रद्धा हत्‍याकांड के नाम पर वायरल वीडियो में दिख रहे शख्‍स की पहचान आई सामने, जानें वायरल पोस्‍ट की सच

Edited By: Mahen Khanna

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट