नई दिल्ली, पीटीआइ। देश के ज्यादातर शहरों में टमाटर का खुदरा भाव एक बार फिर आसमान छूने लगा है। किचन के सबसे जरूरी आइटम में शामिल टमाटर का भाव अधिकतर शहरों में 80 रुपये प्रति किलोग्राम तक पहुंच गया है, जो महीनेभर पहले तक 20 रुपये के आसपास था। उपभोक्ता मामलों के मंत्री राम विलास पासवान ने भी माना है कि पिछले कुछ दिनों में टमाटर के भाव में तेजी आई है। उनके मुताबिक इसकी मुख्य वजह यह है कि टमाटर की फसल के लिहाज से यह ऑफ सीजन है और जल्दी खराब हो जाने की इसकी प्रकृति की वजह से भी यह महंगा हो रहा है।

उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के मुताबिक चेन्नई को छोड़ सभी मेट्रो शहरों में टमाटर का खुदरा भाव 60 रुपये प्रति किलोग्राम तक पहुंच गया है। मंत्रालय के मुताबिक गुरुग्राम, गंगटोक और रायपुर जैसे शहरों में यह 70 रुपये प्रति किलो का मिल रहा है। गोरखपुर, कोटा और दीमापुर में यह 80 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गया है। टमाटर उत्पादक राज्यों के मामले में भी हैदराबाद में यह 37 रुपये, चेन्नई में 40 रुपये और बेंगलुरु में 46 रुपये प्रति किलोग्राम का बिक रहा है।

जानकारों का कहना है कि पिछले पांच वर्षो के आंकड़ों के मुताबिक हर वर्ष जुलाई से सितंबर के दौरान टमाटर का भाव चढ़ जाता है। उत्तर प्रदेश, राजस्थान, झारखंड, पंजाब, तमिलनाडु, केरल, जम्मू-कश्मीर और अरुणाचल प्रदेश जैसे राज्यों में टमाटर का उत्पादन कम होता है। ये सभी राज्य अन्य बड़े उत्पादक राज्यों पर निर्भर करते हैं। मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक देश में सालाना 1.97 करोड़ टन टमाटर का उत्पादन होता है। वहीं, सालाना खपत करीब 1.15 करोड़ टन है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021