हैदराबाद, एएनआइ। आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री और तेलुगू देशम पार्टी (Telugu Desam Party, TDP) प्रमुख एन चंद्रबाबू नायडू ( N Chandrababu Naidu) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) से विशाखापट्टनम में गैस लीक मामले की जांच के लिए वैज्ञानिकों की एक टीम गठित करने की मांग की है। उन्‍होंने प्रधानमंत्री को पत्र लिखा और वैज्ञानिकों की एक कमिटी गठित करने का अनुरोध किया है।

इससे पहले भी तेदेपा प्रमुख ने प्रधानमंत्री से विशाखापट्टनम जाने की इजाजत मांगी थी ताकि वे घटनास्‍थल का जायजा ले सकें और प्रभावितों की मदद कर सकें। एन चंद्रबाबू नायडू ने बृहस्पतिवार को प्रधानमंत्री कार्यालय से उन्हें विमान के जरिए हैदराबाद से विशाखापट्टनम जाने की अनुमति मांगी थी। उल्‍लेखनीय है कि कोविड-19 संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए देशभर में लागू लॉकडाउन के कारण सभी घरेलू और विदेशी उड़ानें निलंबित हैं।

उन्‍होंने कहा कि वह राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और विधानसभा में नेता विपक्ष होने के नाते प्रभावित इलाके का दौरा करना चाहते हैं।

बता दें कि गैस लीक मामले को लेकर नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) एलजी पॉलिमर इंडिया प्राइवेट को 50 करोड़ रुपये की अंतरिम राशि जमा करने का निर्देश दिया गया है। यह राशि मजिस्ट्रेट के पास जमा करनी होगी। समाचार एजेंसी प्रेट्र के अनुसार, कोर्ट ने इसके अलावा केंद्र और एलजी पॉलिमर इंडस्ट्री और केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) समेत अन्य को भी नोटिस जारी किया है। NGT न्यायमूर्ति आदर्श कुमार गोयल की अध्यक्षता वाली एक पीठ ने इस घटना की जांच करने के लिए न्यायमूर्ति बी शेषासन रेड्डी की एक पांच सदस्यीय समिति का गठन किया। इन्हें 18 मई से पहले एक रिपोर्ट प्रस्तुत करना है।

 

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस