नई दिल्ली, जेएनएन। Surgical Strike2 को लेकर विपक्षी दलों ने राजनीति शुरू कर दी है। कांग्रेस और भाजपा के नेता इस मुद्दे पर आमने-सामने हैं। एक ओर जहां भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने बालाकोट में हुई एयर स्ट्राइक से करीब 250 से अधिक आतंकियों के मारे जाने की बात कही है, वहीं दूसरी ओर कांग्रेस इस आंकड़े पर सवाल उठा रही है।'

वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी ने ट्विटर पर अमित शाह को घेरा है। उन्होंने ट्वीट किया, 'वाइस एयर मार्शल आरजीके कपूर ( AVM RGK Kapoor) ने आतंकियों के मारे जाने के सटीक आंकड़ों को नहीं बताया लेकिन अमित शाह कहते हैं कि सेना ने 250 से अधिक आतंकियों को मार गिराया क्या यह राजनीति नहीं है।'? 
chidambram

पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने ट्वीट कर कहा कि, 'पाकिस्तान में एयर स्ट्राइक के बाद सबसे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने वायुसेना के जवानों को सैल्यूट (salute) किया था लेकिन प्रधानमंत्री मोदी क्यों भूल ?'

एक अन्य ट्वीट में चिदंबरम ने कहा कि वायुसेना के वाइस प्रमुख ने हताहतों की संख्या पर कमेंट करने से इनकार दिया था। जबकि विदेश मंत्रालय ने कहा है कि इस एयर स्ट्राइक में कोई नागरिक और पाकिस्तानी सैनिक नहीं मारे गए। मारे गए लोगों की संख्या पर सवाल उठाते हुए चिदंबरम ने कहा कि जब किसी ने मृतकों की संख्या नहीं बताई तो फिर कहां से 300-350 लोगों के मारे जाने की बात कही जा रही है?

पी. चिदंबरम ने ट्वीट कर कहा कि मैं एक नागरिक के तौर पर देश की सरकार पर विश्वास करने के लिए तैयार हूं। लेकिन हम चाहते हैं कि सरकार पर विश्व के लोग विश्वास करें। उन्होंने कहा कि विपक्ष को कोसने की बजाय सरकार को प्रयास करना चाहिए।  

पुलवामा में 14 फरवरी को 40 जवानों के शहीद होने का बदला लेने के लिए वायुसेना ने 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में अलसुबह करीब 3.30 बजे पाकिस्तान में घुसकर जैश-ए-मुहम्मद के ठिकानों को निशाना बनाया था। वायुसेना के 12 मिराज-2000 विमानों ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से लेकर अंदरूनी प्रांत खैबर पख्तुनख्वा के बालकोट में स्थित आतंकी संगठनों जैश-ए-मोहम्मद, लश्कर-ए- तोएबा और हिजबुल मुजाहिदीन के कैंपों को तबाह कर दिया था। इस कार्रवाई में जैश का रिश्तेदार यूसुफ अजहर और उसका भाई के मारे जाने का दावा भी किया गया।

गौरतलब है कि भारतीय वायुसेना ने 1971 के युद्ध के बाद पहली बार पाकिस्तान में घुसकर हवाई हमले किए। इससे पुलवामा हमले की जिम्मेदारी लेने वाले जैश-ए- मोहम्मद को भारी नुकसान हुआ है। बालकोट शहर से 20 किमी दूर जंगल में एक पहाड़ी पर बने पांच सितारा रिसॉर्टनुमा उसके सबसे बड़े कैंप पर जैसे ही मिराज विमानों ने 1000 किलो के लेजर गाइडेड बम गिराए वह मलबे के ढेर में तब्दील हो गया।

 

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस