कारवार, पीटीआइ। कर्नाटक में भाजपा सरकार पर कटाक्ष करते हुए, पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने सोमवार को कहा कि वह केवल कैबिनेट विस्तार पर ध्यान केंद्रित कर रही है, न कि सीओवीआईडी ​​-19 पर। सिद्धारमैया ने उत्तर कन्नड़ जिले के मुख्यालय कारवार में संवाददाताओं से कहा, 'पर्याप्त अस्पतालों, बिस्तरों, वेंटिलेटर और ऑक्सीजन के अभाव में हजारों लोग मारे गए हैं। इसके प्रभाव को रोका जाना चाहिए, लेकिन मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई COVID-19 पर ध्यान केंद्रित करने के बजाय कैबिनेट विस्तार के लिए इधर-उधर भाग रहे हैं।

उन्होंने कहा कि आश्चर्य होता है बोम्मई के बार-बार दिल्ली जाना पर। कांग्रेस के दिग्गज ने कहा कि भाजपा आलाकमान को भी राज्य की समस्याओं को समझना चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा विधायकों ने अपने निर्वाचन क्षेत्र में काम करने के लिए जाने के बजाय मंत्री पद की पैरवी करने के लिए बेंगलुरु में डेरा डाला है। सिद्धारमैया ने आरोप लगाया कि भाजपा विधायकों के लिए मंत्री पद मानव जीवन से ज्यादा महत्वपूर्ण है। उन्होंने सरकार को आगाह किया कि वह यह सुनिश्चित करे कि ऐसी स्थिति न बने, जो लॉकडाउन लगाना पड़े।

कांग्रेस नेता बोले कि पिछले दो दिनों में संक्रमितों की संख्या दो हजार के करीब पहुंच चुकी है। सिद्धारमैया ने कहा कि राज्य सरकार का प्राथमिक कार्य राज्य में सीओवीआईडी ​​-19 की तीसरी लहर को रोकना है, जो उन्होंने दावा किया, पहले ही पड़ोसी महाराष्ट्र और केरल को प्रभावित कर चुका है। बता दें कि कर्नाटक में रविवार को 1,875 नए मामले सामने आए और 25 मौतें हुईं, जबकि राज्य में 24,000 से अधिक सक्रिय मामले हैं।

Edited By: Nitin Arora