नई दिल्ली, एएनआइ। राष्ट्रपति भवन ने बुधवार को एनसीपी प्रमुख शरद पवार के पीएम मोदी की शपथ ग्रहण समारोह में ना आने को लेकर छिड़े विवाद पर अपना स्पष्टीकरण दिया है। भवन द्वारा स्पष्ट किया गया कि पवार को वीवीआईपी भाग में आमंत्रित किया गया था, जहां सर्वाधिक वरिष्ठ लोगों को बैठाया गया था। सूत्रों के मुताबिक शरद पवार इसलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोेदी के शपथ समारोह में नहीं गए, क्योंकि उन्हें पांचवी पंक्ति में बैठने की जगह दी गई थी। 

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद के प्रेस सचिव अशोक मलिक ने एक ट्वीट में कहा कि पवार की सीट वीवीआईपी सेक्शन में पहली पंक्ति में नामित की गई थी। उन्होंने कहा '30 मई को शपथ ग्रहण समारोह में, शरद पवार को 'V' अनुभाग में आमंत्रित किया गया था, जहां वरिष्ठ मेहमान बैठे थे। यहां तक कि 'V'में भी उनके पास पहली पंक्ति की लेबल वाली सीट थी। शायद उनके कार्यालय में कोई वी को (वीवीआईपी) या रोमन अंक समझने में भ्रमित हो गया होगा।'

एक अन्य ट्वीट में बताया गया कि राष्ट्रपति कार्यालय द्वारा प्राप्त मीडिया रिपोर्टों और मीडिया के सवालों के बाद यह स्पष्टीकरण जारी किया गया।

बता दें 30 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल के लिए शपथ ग्रहण समारोह हुआ था, जिसके लिए सभी वरिष्ठ नेताओं समेत शरद पवार को भी निमंत्रण भेजा गया था। पवार को तय प्रोटोकॉल के अनुरूप सीट नहीं मिलने के कारण उनकी पार्टी भी नाराज़ थी और वह कार्यक्रम में भी नहीं पहुंचे थे।  

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

जीतेगा भारत हारेगा कोरोन

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस