नई दिल्ली, जागरण ब्यूरो। लंदन में बेनामी संपत्तियों को लेकर राबर्ट वाड्रा से ईडी की पूछताछ दूसरे दिन भी जारी रही। गुरूवार को ईडी के अधिकारी दस्तावेजों के साथ वाड्रा के साथ पूछताछ के लिए बैठे। लेकिन वाड्रा दस्तावेजी सबूतों को नकारने की कोशिश में जुटे रहे। जांच में वाड्रा के असहयोग को देखते हुए ईडी अदालत से उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ की अपील कर सकती है। फिलहाल अदालत ने 16 फरवरी तक वाड्रा की गिरफ्तारी पर रोक लगा रखी है।

ईडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि लंदन में राबर्ट वाड्रा के नौ बेनामी संपत्तियां होने के सबूत मिले हैं। माना जा रहा है कि इन संपत्तियों को संप्रग सरकार के दौरान रक्षा और पेट्रोलियम सौदों की दलाली की रकम से खरीदे गए थे और इसमें रक्षा सौदों के दलाल संजय भंडारी की केंद्रीय भूमिका थी। ईडी ने वाड्रा को संजय भंडारी के साथ उनके नजदीकी संबंधों को लेकर दस्तावेजी सबूत दिखाए। उन्हें संजय भंडारी का आयकर विभाग को दिया गया बयान भी दिखाया गया, जिसमें संजय भंडारी ने राबर्ट वाड्रा के लिए हवाई जहाज के टिकट की व्यवस्था करने का दावा किया था। लेकिन वाड्रा उन सबूतों को मानने से इनकार करते रहे।

ईडी ने राबर्ट वाड्रा को लंदन की नौ प्रोपर्टियों में एक-एककर सभी के दस्तावेज सामने रखा और बताया कि किस तरह से वे इन संपत्तियों के असली मालिक हैं, लेकिन वाड्रा ने किसी भी सबूत को मानने से इनकार कर दिया। उनका कहना था कि इन संपत्तियों से उनका कोई लेना-देना नहीं है। यहां तक उन्होंने खुद अपनी ईमेल आइडी से सुमित चढ्डा को भेजे गए ईमेल को भी स्वीकार करने से इनकार कर दिया। सुमित चढ्डा ने लंदन की 12 ब्रायंस्टन स्क्वायर की एक प्रोपर्टी की मरम्मत ईमेल पर बातचीत की थी और राबर्ट वाड्रा ने मनोज अरोड़ा के मार्फत इसके लिए फंड की व्यवस्था का भरोसा भी दिया था।

ईडी के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि राबर्ट वाड्रा जांच में बिल्कुल सहयोग नहीं कर रहे हैं। ऐसे में उनसे हिरासत में पूछताछ की जरूरत है। लेकिन अदालत के 16 फरवरी तक गिरफ्तारी पर रोक के कारण उन्हें गिरफ्तार करना संभव नहीं है। अब वाड्रा की लंदन की संपत्तियों के सबूत और ईडी के सामने उनके बयान को अदालत के सामने पेश कर ईडी गिरफ्तारी पर रोक हटाने की मांग करेगी। पटियाला हाऊस कोर्ट में 16 फरवरी को ही इस पर सुनवाई होने की उम्मीद है। एक बार गिरफ्तारी पर रोक हटने के बाद ईडी उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ कर सकेगी।

Edited By: Vikas Jangra