पणजी, एएनआइ। मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने कहा कि 1 सितंबर से गोवा में प्रवेश करने के इच्छुक सभी लोगों के लिए COVID-19 परीक्षण अनिवार्य नहीं होगा और बार-रेस्तरां खुल सकते हैं, हालांकि उन्हें MHA दिशानिर्देशों का पालन करना होगा। सावंत ने एएनआइ से बात करते हुए कहा, '1 सितंबर से, अनलॉक 4 शुरू हो गया है, गोवा में प्रवेश करने के इच्छुक लोगों के लिए पहले परीक्षण अनिवार्य था। लेकिन अब यह अनिवार्य नहीं होगा, अगर किसी में लक्षण पाए जाते हैं तो व्यक्ति राज्य में परीक्षण करवा सकता है। लोगों के आने, वाहनों के अंतर-राज्य यात्रा पर भी कोई प्रतिबंध नहीं है।'

उन्होंने आगे कहा कि बार और रेस्तरां अब खोले जा सकते हैं, हालांकि सभी एसओपी और दिशानिर्देशों का पालन करना होगा। एमएचए के दिशानिर्देशों के अनुसार रेस्तरां, बाज़ार, हर जगह शारीरिक दूरी का पालन करना होगा। गोवा के मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र द्वारा चौथे चरण के लिए केवल जिन चीजों पर प्रतिबंध लगाया है, उन्हीं पर ही सिर्फ गोवा में भी रहेगा।

मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि गोवा में सात दिनों का राजकीय शोक घोषित किया गया है और पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन के मद्देनजर कोई कार्य नहीं होगा। सावंत ने कहा, 'प्रणब मुखर्जी को हमेशा याद किया जाएगा, गोवा के सभी लोगों की उनके परिवार के सदस्यों के प्रति संवेदना। उनका योगदान हर क्षेत्र में रहा।' बता दें कि सरकार ने अनलॉक -4 के लिए COVID-19 दिशानिर्देश जारी किए, जो आज से लागू होंगे। केंद्र ने नियंत्रण क्षेत्रों के बाहर और गतिविधियां खोलने का निर्णय लिया है।

Edited By: Nitin Arora