नई दिल्‍ली, एएनआइ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने बुधवार को श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे (Mahinda Rajapaksa) से टेलीफोन पर बातचीत की और उन्‍हें श्रीलंकाई संसदीय पारी के 50 साल पूरे करने पर शुभकामनाएं दी। दोनों नेताओं ने कोरोना महामारी के रोकथाम के उपायों के साथ साथ उसके स्वास्थ्य और आर्थिक क्षेत्र पर पड़ने वाले प्रभाव पर चर्चा की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एकबार फ‍िर राजपक्षे को आश्‍वास्‍त किया कि भारत इस चुनौतीपूर्ण समय में भी श्रीलंका को हर संभव मदद देने के लिए तैयार है। 

इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने श्रीलंका के राष्‍ट्रपति गोतबाया राजपक्षे से भी टेलीफोन पर बातचीत की थी। प्रधानमंत्री ने बातचीत में कोरोना महामारी के कारण स्वास्थ्य और आर्थिक क्षेत्र में पड़ने वाले प्रभावों को लेकर चर्चा की थी साथ ही आश्वस्त किया था कि भारत श्रीलंका को हर संभव मदद देना जारी रखेगा। उस वक्‍त राष्ट्रपति राजपक्षे ने श्रीलंका में आर्थिक गतिविधियां शुरू किए जाने के लिए अपने कदमों की जानकारी भी दी थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रीलंका के लोगों की खुशहाली और उनके स्वस्थ जीवन की भी कामना की थी।

पीएम मोदी ने श्रीलंका में तमिलों के भारतीय मूल के प्रमुख नेता अरुमुगन थोंडमान की आकस्मिक मृत्यु पर संवेदना व्यक्त की। साथ ही भारत और श्रीलंका के बीच विकास साझेदारी को आगे बढ़ाने में थोंडमान की भूमिका को भी याद किया। उल्‍लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन दिनों समय समय पर दुनिया के नेताओं से कोरोना संकट और इसके प्रभावों पर चर्चा कर रहे हैं। मौजूदा वक्‍त में भारत दुनिया के तमाम मुल्‍कों को दवाएं और चिकित्‍सकों की सेवाएं मुहैया करा रहाहै। श्रीलंका में कोरोना संक्रमण से अब तक 1,319 से ज्यादा मामले सामने आए हैं जबकि 10 लोगों की मौत हो गई है। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप