नई दिल्ली, जेएनएन। पीएम नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में अनुच्छेद 370 हटाने को बड़ी उपलब्धि बताया। उन्होंने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख की जनता को बधाई दिया। उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 और 35ए ने जम्मू कश्मीर को अलगाववाद, आतंकवाद, परिवारवाद और व्यवस्थाओं में बड़े पैमाने में फैले भ्रष्टाचार के अलावा कुछ नहीं दिया। इन दोनों अनुच्छेद का देश के खिलाफ कुछ लोगों की भावनाएं भड़काने के लिए पाकिस्तान द्वारा एक शस्त्र की तरह उपयोग किया जा रहा था। आइए जानते हैं पीएम मोदी के संबोधन की बड़ी बातें...

देश ने ऐतिहासिक फैसला लिया
पीएम मोदी ने कहा कि एक राष्ट्र के तौर पर, एक परिवार के तौर पर, आपने, हमने, पूरे देश ने एक ऐतिहासिक फैसला लिया है। एक ऐसी व्यवस्था, जिसकी वजह से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के हमारे भाई-बहन अनेक अधिकारों से वंचित थे, जो उनके विकास में बड़ी बाधा थी, वो हम सबके प्रयासों से अब दूर हो गई है। जो सपना सरदार पटेल का था, बाबा साहेब अंबेडकर का था, डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी का था, अटल जी और करोड़ों देशभक्तों का था, वो अब पूरा हुआ है। अब देश के सभी नागरिकों के हक़ और दायित्व समान हैं।

6 अगस्त, 2019 देश के इतिहास में स्वर्णाक्षरों में अंकित
पीएम मोदी ने कहा कि 6 अगस्त, 2019 देश के इतिहास में स्वर्णाक्षरों में अंकित हो गया, जब भारत की एकता और अखंडता को पुनर्स्थापित करने के लिए अनुच्छेद 370 को निरस्त करने का संकल्प संसद से पारित हुआ। समाज जीवन में कुछ बातें, समय के साथ इतनी घुल-मिल जाती हैं कि कई बार उन चीजों को स्थाई मान लिया जाता है। अनुच्छेद 370 के साथ भी ऐसा ही भाव था। उससे जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के हमारे भाई-बहनों की जो हानि हो रही थी, उसकी चर्चा ही नहीं होती थी।

देश के एक हिस्से में कानून लागू नहीं होता था
हमारे देश में कोई भी सरकार हो, वो संसद में कानून बनाकर देश की भलाई के लिए कार्य करती है। किसी भी दल या गठबंधन की सरकार हो, ये कार्य निरन्तर चलता रहता है। कानून बनाते समय काफी बहस होती है उसकी आवश्यकता को लेकर गंभीर पक्ष रखे जाते हैं। इस प्रक्रिया से गुजरकर जो कानून बनता है,वो पूरे देश के लोगों का भला करता है। लेकिन कोई कल्पना नहीं कर सकता कि संसद इतनी बड़ी संख्या में कानून बनाए और वो देश के एक हिस्से में लागू ही नहीं हों।

कानून से वंचित लोगों को मिलेगा अधिकार
पीएम मोदी ने कहा कि जो पहले की सरकारें कानून बनाकर वाहवाही लूटती थीं, वो भी ये दावा नहीं कर पाती थीं कि उनका कानून जम्मू कश्मीर में भी लागू होगा। उन कानूनों के लाभ से जम्मू कश्मीर के लोग वंचित रह जाते थे। शिक्षा के अधिकार के लाभ से जम्मू कश्मीर के बच्चे अब तक वंचित थे। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि  देश के अन्य राज्यों में सफाई कर्मचारियों के लिए सफाई कर्मचारी एक्ट लागू है, लेकिन जम्मू-कश्मीर के सफाई कर्मचारी इससे वंचित थे। देश के अन्य राज्यों में दलितों पर अत्याचार रोकने के लिए सख्त कानून लागू है, लेकिन जम्मू-कश्मीर में ऐसे कानून लागू नहीं होते थे।

जो लोग इस फैसले से असहमत हैं, उनका भी सम्मान करता हूं
पीएम मोदी ने कहा कि जो लोग इस फैसले से असहमत हैं, मैं उनका भी सम्मान करता हूं। किसने इसके पक्ष में वोट दिया, किसने नहीं दिया, अब इसका कोई मतलब नहीं है। अनुच्छेद 370 हटने के बाद सुरक्षा के लिहाज से जरूरी कदम उठाए जाने थे, उठाए गए हैं। वहां के लोगों की तकलीफ से हम अलग नहीं हैं। अनुच्छेद 370 से मुक्ति एक सच्चाई है। ऐहतियातन कुछ कदम उठाए गए हैं, इसका मुकाबला भी वहां के लोग ही कर रहे हैं।

भ्रष्टाचार व आतंकवाद फैल रहा था
पीएम ने कहा कि सामाजिक जीवन में कई बार ऐसा भाव आ जाता है कि कुछ बदलेगा ही नहीं, ऐसे ही चलेगा। अनुच्छेद 370 पर भी यही भाव आ गया था। हमारे युवाओं व भाई-बहनों को बहुत नुकसान हो रहा था। कोई यह नहीं बता पा रहा था कि आखिर 370 से क्या लाभ है? दरअसल 370 व 35 ए अनुच्छेदों के कारण भ्रष्टाचार व आतंकवाद फैल रहा था।

कुछ लोग हालात बिगाड़ना चाहते हैं
पीएम मोदी ने कहा कि कुछ मुट्ठी भर लोग हालात बिगाड़ना चाहते हैं, उन्हें धैर्यपूर्वक जवाब भी वहां के ही हमारे भाई बहन दे रहे हैं। आतंकवाद और अलगाववाद को बढ़ावा देने के विरोध में जम्मू-कश्मीर के ही देशभक्त लोग खड़े हैं। मैं भरोसा देता हूं कि वहां धीरे-धीरे हालात सामान्य हो जाएंगे और उनकी परेशानी कम होगी।

राज्य कर्मचारियों को केंद्रीय कर्मचारियों की तरह सुविधाएं मिलेगी
 जल्द ही राज्य के कर्मचारियों, पुलिस व परिजनों को केंद्रीय कर्मचारियों की तरह सुविधाएं मिलने लगेंगी। बहुत जल्दी जम्मू-कश्मीर व लद्दाख में शासन-प्रशासन के रिक्त पदों को भरने की प्रक्रिया शुरू होगी। जम्मू-कश्मीर की जनता ही अपना प्रतिनिधि चुनेगी, एमएलए आपके द्वारा ही चुना जाएगा। पहले की तरह मुख्यमंत्री व मंत्री बनेंगे। 

धरती का स्वर्ग फिर दुनिया को आकर्षित करेगा
राष्ट्र के नाम संबोधन में पीएम मोदी ने कहा कि अनुच्छेद 370 की समाप्ति से हम सब मिलकर आतंकवाद व अलगाववाद से जम्मू-कश्मीर को मुक्त कराएंगे। धरती का स्वर्ग फिर एक बार पूरी दुनिया के लोगों को आकर्षित करने लगेगा।

 ईद की शुभकामनाएं, कोई परेशानी नहीं होने देंगे
अंत में पीएम मोदी ने जम्मू-कश्मीर के लोगों को ईद की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि सरकार इस बात का ध्यान रख रही है कि वहां के नागरिकों को यह त्योहार मनाने में कोई परेशानी ना आए। जो नागरिक राज्य से बाहर उन्हें लौटने के भी इंतजाम किए जा रहे हैं।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sanjeev Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस