नई दिल्ली, आइएएनएस। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि भारत दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की ओर अग्रसर है। प्रधानमंत्री भारत-दक्षिण अफ्रीका व्यवसाय मंच को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर भारत दौरे पर पहुंचे दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा भी मौजूद थे।

कार्यक्रम का आयोजन भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई), भारतीय वाणिज्य एवं उद्योग महासंघ (फिक्की) और एसोचैम द्वारा संयुक्त रूप से किया गया था। मोदी ने कहा कि विश्व बैंक की हालिया इज ऑफ डूइंग बिजनेस (कारोबारी सुगमता) रैंकिंग में भारत 77वें स्थान पर आ गया है और अंकटाड के अनुसार, प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) के लिए मौजूदा दौर में सबसे आकर्षक ठिकाना है। उन्होंने कहा, 'हम दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने जा रहे हैं और विश्व बैंक की इज ऑफ डूइंग बिजनेस की रैंकिंग में छलांग लगाकर 77वें पायदान पर आ गए हैं।'

ब्रिटिश कंसल्टेंसी मल्टीनेशनल कंपनी पीडब्ल्यूसी द्वारा इस सप्ताह जारी अनुमान के अनुसार, भारत 2019 में दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं की सूची में युनाइटेड किंगडम को सातवें पायदान पर धकेल कर पांचवें स्थान पर आ जाएगा।

प्रधानमंत्री ने बताया कि दक्षिण अफ्रीका के साथ भारत का द्विपक्षीय व्यापार 2017-18 में 10 अरब डॉलर के स्तर को पार कर गया। प्रधानमंत्री ने कहा कि दोनों देशों के बीच वीजा के सरलीकरण और हवाई सेवा से संपर्क बढ़ने से व्यापारिक रिश्तों को काफी बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि रत्न और आभूषण के क्षेत्र में द्विपक्षीय व्यापार बढ़ाने की काफी संभावना है। मिसाल के तौर पर हीरे की सीधी खरीद से प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी और लागत में कमी आएगी।

Posted By: Nancy Bajpai