राजौरी, जेएनएन। जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने और सामान्य स्थिति बहाल करने के बाद अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पूरा ध्यान गुलाम कश्मीर की ओर है। भारत-पाक नियंत्रण रेखा के साथ सटे राजौरी में जवानों के साथ रविवार को दिवाली मनाने पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आजादी के बाद पाकिस्तान ने हमसे कश्मीर छीनने की कोशिश की, लेकिन हमारे सैनिकों ने उसके मंसूबों को कामयाब नहीं होने दिया। मोदी ने कहा कि पाकिस्तान ने अवैध रूप से कश्मीर के एक हिस्से पर कब्जा कर रखा है, जिसकी कसक मेरे अंदर है। 

सेना की वर्दी पहने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जवानों को अपने हाथों से मिठाई खिलाई और देश की सुरक्षा में अदम्य साहस दिखाने पर देशवासियों की तरफ से आभार जताया। उन्होंने जवानों को दिवाली की बधाई भी दी। उनके साथ सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत भी थे। मोदी करीब दो घंटे तक जवानों के बीच रहे और एलओसी की सुरक्षा में लगे जवानों व अधिकारियों से बातचीत भी की। पीएम मोदी ने उस दिन जम्मू कश्मीर का दौरा किया जब सेना इन्फेंट्री डे मना रही है। 

 

पीएम ने पैदल सेना के शौर्य को याद करते हुए कहा कि आजादी के बाद जब दोनों देश अलग हुए तो हमने पाकिस्तान से कहा कि वह अपनी राह चले और हम अपनी राह, लेकिन पाकिस्तान ने भारत की पीठ पर खंजर घोंपने की कोशिश की। मोदी ने कहा कि उसने कश्मीर पर कब्जे के लिए षड्यंत्र रचा, लेकिन हमारी सेना ने पाक के मंसूबों को चकनाचूर कर दिया। जम्मू-कश्मीर आज भारत का हिस्सा है, लेकिन कश्मीर का कुछ हिस्सा पाक के पास चला गया, जिसकी कसक हमारे दिलों में है। 

मोदी ने बड़े फैसले करने का श्रेय जवानों को दिया 

करीब एक हजार जवानों की मौजूदगी में मोदी ने कहा कि भारतीय सुरक्षा बलों के पराक्रम के कारण ही यह संभव हो पाया कि केंद्र सरकार ने वो निर्णय लिए जो असंभव माने जाते थे। उनका इशारा सीमा के उस पार की गई सर्जिकल स्ट्राइक, बालाकोट एयर स्ट्राइक और जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने से जुड़े फैसले की ओर था। 

हमारे जवानों की अंगुलियां देती है जवाब 

जवानों को संबंधित करते हुए मोदी ने कहा कि हम लोग बयानों में नहीं उलझते। हम बयानों में यकीन नहीं रखते, हम कार्रवाई में यकीन रखते हैं। जो भी देश के खिलाफ साजिश रचता है या फिर देश को नुकसान पहुंचाने का प्रयास करते हैं तो उसे हमारे जवानों की अंगुलियां जवाब देती हैं।  

महिला अधिकारी ने गाया ए मेरे वतन के लोगो 

जवानों से मुलाकात के दौरान सेना की एक महिला अधिकारी ने गीत गाने की इच्छा जाहिर की। इसके बाद महिला अधिकारी ने ए मेरे वतन के लोगो गीत गाया। इस गीत को सुनकर कुछ पल के लिए मोदी और अन्य सैन्य अधिकारी मौन हो गए। बाद में मोदी ने सैन्य महिला अधिकारी की जमकर तारीफ की।  

हॉल ऑफ फेम भी गए मोदी 

प्रधानमंत्री ने 25 सैन्य डिवीजन मुख्यालय के अंदर बने हॉल ऑफ फेम का दौरा किया और उन जवानों एवं नागरिकों को श्रद्धांजलि अर्पित की, जिन्होंने राजौरी व पुंछ के लिए अपने प्राण न्यौछावर किए। प्रधानमंत्री ने हॉल ऑफ फेम को पराक्रम भूमि, प्रेरणा भूमि और पावन भूमि करार दिया। सेना द्वारा हाल ऑफ फेम का निर्माण सेना के जवानों व आम लोगों की याद में करवाया गया है जिन्होंने युद्धों में व आतंकी वारदातों में अपने प्राणों की आहुति दी है।  

जोश में दिखे सेना के जवान 

इससे पूर्व मोदी जैसे ही सेना के जवानों के बीच पहुंचे तो जवानों ने भारत माता की जय के नारे लगाने शरू कर दिए। इसके बाद मोदी जवानों के बीच गए और उनसे बातचीत करने के साथ उनका हालचाल जाना और हाथ भी मिलाया। मोदी जवानों में नया जोश भर गए। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि आप जवानों की बदौलत ही पूरा देश चैन की नींद सो रहा है। आप लोगों के दम पर देश की सीमाएं सुरक्षित हैं। मोदी के भाषण के दौरान भी जवानों ने भारत माता की जय के नारे लगाए। इसके बाद रात को भी जवानों ने दीपावली का पर्व धूमधाम से मनाया।

यह भी पढ़ें: महाराष्ट्र में सीएम और डिप्‍टी सीएम को लेकर 1995 के फार्मूले पर बन सकती है बात

यह भी पढ़ें: बगदादी और ओसामा को मार गिराने के ऑपरेशन को लेकर हो रही ट्रंप और ओबामा के बीच तुलना

Edited By: Dhyanendra Singh