Move to Jagran APP

Rahul Gandhi: राहुल मामले पर मिलकर रणनीति बनाएंगे विपक्षी दल, संसद में होगा हंगामा

राहुल गांधी ने कहा कि वह जेल जाने से डरते नहीं हैं और यह सब अदाणी मुद्दे से ध्यान भटकाने के लिए किया गया है। उन्होंने कहा कि वह आगे भी पूछते रहेंगे कि अदाणी शेल फर्मों में 20000 करोड़ रुपए का निवेश किसने किया।

By AgencyEdited By: Shashank MishraPublished: Sun, 26 Mar 2023 10:49 PM (IST)Updated: Sun, 26 Mar 2023 10:49 PM (IST)
राहुल गांधी का कहना है कि संसद सदस्यता जाने के बाद भी वह केंद्र सरकार के आगे झुकेंगे नहीं।

नई दिल्ली, एएनआई। मानहानि मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद राहुल गांधी की संसद सदस्यता खत्म होने पर विपक्षी दल मिलकर सरकार को घेरने की योजना बना रहे हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, समान विचारधारा वाले विपक्षी नेता सोमवार को राज्यसभा में नेता विपक्ष के कक्ष में मुलाकात करेंगे ताकि वे सदन में अपनी रणनीति पर चर्चा कर सकें।

बता दें संसद में पिछले दो सप्ताह से विधायी कार्यवाही नहीं हो पाई है क्योंकि विपक्ष अदाणी मुद्दे पर संयुक्त संसदीय समिति की मांग कर रहा है और सत्ता पक्ष लंदन में दिए गए भाषण के लिए राहुल गांधी से माफी चाह रहा है। हालांकि, अब आशंका जताई जा रही है कि राहुल गांधी की लोकसभा सदस्यता खत्म होने के बाद संसद में काफी हंगामा होगा।

काले कपड़े पहनकर संसद जाएंगे कांग्रेसी

पार्टी सूत्रों से जानकारी मिली है कि कांग्रेस नेता सोमवार को काले कपड़े पहनकर केंद्र के खिलाफ विरोध प्रकट करेंगे। कांग्रेस के सांसद दोनों सदनों में काले कपड़े पहनकर आएंगे। इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने प्रियंका गांधी वाड्रा, केसी वेणुगोपाल, अशोक गहलोत और अन्य लोगों के साथ राहुल को सांसद के रूप में हटाए जाने के खिलाफ 'सत्याग्रह' के बीच राज घाट पर श्रद्धांजलि अर्पित की। कांग्रेस ने राज घाट पर 'संकल्प सत्याग्रह' आयोजित किया।

अदाणी फर्मों में निवेश पर उठाए सवाल

राहुल गांधी का कहना है कि संसद सदस्यता जाने के बाद भी वह केंद्र सरकार के आगे झुकेंगे नहीं। उन्होंने कहा कि वह जेल जाने से डरते नहीं हैं और यह सब अदाणी मुद्दे से ध्यान भटकाने के लिए किया गया है। उन्होंने कहा कि वह आगे भी पूछते रहेंगे कि अदाणी शेल फर्मों में 20,000 करोड़ रुपए का निवेश किसने किया। कांग्रेस नेता ने केंद्र सरकार पर अडानी को बचाने का आरोप लगाया।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.