नई दिल्‍ली (एएनआई)। कठुआ और उन्‍नाव दुष्‍कर्म मामले के विरोध में कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी की ओर से शुक्रवार को पार्टी सदस्‍यों को सभी राजधानियों में कैंडल मार्च निकालने का निर्देश दिया गया है। बता दें कि इससे पहले गुरुवार रात 12 बजे पार्टी अध्‍यक्ष की अगुआई में कांग्रेस ने मान सिंह रोड से इंडिया गेट तक कैंडल मार्च निकाला था।

इस कैंडल मार्च में पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी, प्रियंका वाड्रा, राबर्ट वाड्रा, उनकी बेटी के साथ अहमद पटेल और, दिग्विजय सिंह, सलमान खुर्शीद, दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन, रणदीप सिंह सुरजेवाला, अशोक गहलोत, अंबिका सोनी सहित कई कांग्रेस नेता शामिल हुए।

लोगों ने दुष्कर्म के आरोपियों को सजा देने का आह्वान करते हुए केंद्र, उत्तर प्रदेश व जम्मू-कश्मीर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। इससे पहले राहुल गांधी ने रात लगभग सवा नौ बजे ट्वीट कर लोगों से इंसाफ की लड़ाई में शामिल होने की अपील की थी। उन्‍होंने लिखा, 'लाखों भारतीयों की तरह आज मेरा दिल भी दुखी है। भारत में महिलाओं के साथ ऐसा व्‍यवहार जारी नहीं रह सकता। इस हिंसा के खिलाफ और न्‍याय की मांग के लिए आज रात मेरे साथ इंडिया गेट पर एक शांतिपूर्ण कैंडल लाइट मार्च का हिस्‍सा बनिए।'

उन्‍नाव मामला: एक नजर में

पिछले साल 4 जून के एक मामले पर कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ रेप की शिकायत दर्ज कराई गई। 3 अप्रैल को आरोप लगाया गया कि विधायक के भाई अतुल ने पीड़ित पर केस वापस लेने का दबाव बनाया। 8 अप्रैल को पीड़िता ने मुख्‍यमंत्री के घर के बाहर आत्मदाह की कोशिश की। 9 अप्रैल को पीड़ित के पिता की उन्नाव जेल में मौत हो गई। आरोपी विधायक समेत उसके भाई अतुल व 4 आरोपियों को गिरफ्तार करके जेल भेजा जा चुका है।

रोंगटे खड़ा कर देने वाला है कठुआ मामला

जम्‍मू के कठुआ जिले में जनवरी में आठ साल की मासूम बच्ची को मंदिर में कुछ दिनों तक बंदी बनाकर रखा। आरोपी नशे की गोलियां खिलाकर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म करते रहे, बाद में पत्थर से कुचलकर उसकी हत्या कर दी।

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस