जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने मालदीव की पीपल्स मजलिस के स्पीकर मोहम्मद नशीद से मुलाकात में भारत और मालदीव के के ऐतिहासिक व सांस्कृतिक संबंधों की याद दिलाते हुए कई सारी बातों का विस्तार से उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि मालदीव की इंडिया फ‌र्स्ट के अनुरुप भारत की नेबरहुड फ‌र्स्ट नीति है। बिरला ने दोनों देशों के बीच केवल व्यापार, रोजगार समेत अन्य आर्थिक क्षेत्रों में सहयोग के साथ स्वास्थ्य व शिक्षा पर विशेष सहयोग होना चाहिए।

लोकतंत्र की स्थापना में नशीद की भूमिका को सराहा

बिरला ने मालदीव में लोकतंत्र की स्थापना में नशीद की भूमिका की सराहना करते हुए कहा कि भारत व मालदीव के बीच विकास संबंधी सहयोग मैत्री और परस्पर विश्वास का प्रतीक है। यह दोनों देशों के बीच संबंधों को और मजबूत बनाता है।

भारतीय शिष्टमंडल को सहयोग के लिए मालदीव सरकार का आभार 

उन्होंने माले में सतत विकास लक्ष्यों की प्राप्ति के बारे में चौथे दक्षिण एशियाई अध्यक्ष शिखर सम्मेलन के दौरान भारतीय शिष्टमंडल को दिए गए सहयोग के लिए मालदीव सरकार का आभार व्यक्त किया। इसके पूर्व नशीद की मुलाकात राज्यसभा के सभापति व उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू से भी हुई। नायडू ने इस दौरान दोनों देशों की मजबूत मित्रता को याद किया।

नायडू ने नशीद की महत्वपूर्ण भूमिका की सराहना की

मालदीव के एक संसदीय प्रतिनिधिमंडल ने मोहम्मद नशीद के नेतृत्व में राज्यसभा के सभापति एम. वेंकैया नायडू और लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला से मुलाकात की और करीबी द्विपक्षीय संबंधों और भारत की 'नेबरहुड फर्स्ट' नीति पर विचार-विमर्श किया। प्रतिनिधिमंडल का स्वागत करते हुए, नायडू ने मालदीव में लोकतंत्र के साथ-साथ दोनों देशों की द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ावा देने में नशीद की महत्वपूर्ण भूमिका की सराहना की।

संसद किसी भी लोकतंत्र का आधार है- नायडू

दोनों देशों को करीब लाने में मालदीव की संसद के अध्यक्ष के रूप में उनके योगदान की सराहना करते हुए, राज्यसभा के सभापति नायडू  ने कहा कि संसद किसी भी लोकतंत्र का आधार है, मजलिस और भारतीय संसद के बीच घनिष्ठ संबंध दोनों लोकतंत्रों को और मजबूत करेंगे। 

Posted By: Tanisk

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस