नई दिल्ली, जेएनएन। Narendra Modi Govt 2.0 मोदी सरकार के कामकाज से आम लोग काफी संतुष्ट हैं। 62 फीसद ने माना कि सरकार उम्मीदों पर खरी उतरी है या फिर उसने उम्मीद से अधिक काम किया है। वहीं देश के 90 फीसद लोग मानते हैं कि कोरोना संकट से निपटने में मोदी सरकार प्रभावी रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार जल्द ही अपने (दूसरे) कार्यकाल का एक साल 30 मई को पूरा करने जा रही है।

साल भर में सरकार ने कई साहसिक कदम उठाए हैं। पीएम मोदी को बड़े जनादेश ने चुना था। इसलिए उम्मीदें बहुत थीं। देश के प्रमुख सामुदायिक सोशल मीडिया प्लेटफार्म लोकल सर्कल्स ने जनता की राय को जाना और मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का मूल्यांकन किया है।

इस तरह से हुआ सर्वे : लोकल सर्कल्स ने 30 अप्रैल से 14 मई 2020 के मध्य यह सर्वेक्षण किया है। इसमें देश के नागरिकों से 15 विभिन्न क्षेत्रों में मोदी सरकार के एक साल के प्रदर्शन को लेकर प्रतिक्रिया मांगी गई। सर्वेक्षण में देश के 280 जिलों के 65 हजार से अधिक नागरिकों से 1.27 लाख से ज्यादा मत प्राप्त हुए। यह सर्वेक्षण ऐसे वक्त में किया गया जब देश लॉकडाउन में था और कोविड-19 के मामले हर सप्ताह बढ़ रहे हैं। सर्वे में 67 फीसद पुरुष और 33 फीसद महिलाएं शामिल रहीं। वहीं ग्रामीण जिलों से 20 फीसद लोग शामिल किये गए।

भारत पिछले एक साल में बेरोजगारी का सामना कर सका है?

क्या आप महसूस करते हैं कि पिछले एक साल में व्यवसाय करना आसान हुआ है?

क्या सरकार पिछले एक साल में सांप्रदायिकता से जुड़े मामलों को प्रभावी ढंग से संभाल रही है?

क्या पिछले एक साल में किसी स्टार्टअप की स्थापना, संचालन और उसका विकसित होना सरल हुआ है?

क्या सरकार पिछले एक साल में प्रभावी ढंग से संसद को संभालने और प्रमुख बिल पेश करने में सफल रही है?

क्या आप मानते हैं कि पिछले एक साल में भारत या भारतीयों के खिलाफ आतंकी घटनाओं और आतंकवाद में कमी आई है?

क्या आप महसूस करते हैं कि पिछले एक साल में भारत की छवि और प्रभाव विश्व में बेहतर हुआ है?

क्या आप मानते हैं कि भारत में पिछले एक साल में देश में भ्रष्टाचार कम हुआ है?

क्या आप मानते हैं कि साल भर में कर अधिकारियों द्वारा उत्पीड़न कम हुआ है?

क्या आप भारत में अपने और अपने परिवार के भविष्य को लेकर आशावादी महसूस करते हैं?

घोषणापत्रों के वादो को पूरा करने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है?

क्या आप महसूस करते हैं कि एक साल में आवश्यक वस्तुओं की कीमतों और जीवन यापन की लागत में कमी आई है?

क्या आप महसूस करते हैं कि सरकार ने हवा की गुणवत्ता सुधारने के लिए एक साल में पर्याप्त कदम उठाए हैं?

कोरोना काल में पीएम मोदी सबसे स्वीकार्य नेता

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दुनिया के सबसे स्वीकार्य राजनेता हैं। मॉर्निंग कंसल्ट के सर्वेक्षण में यह बात सामने आई है। हालांकि कोरोना वायरस संकट से पहले भी मोदी की स्वीकार्यता अधिक थी और फिलहाल इसमें थोड़ा सुधार हुआ है। 17 मार्च को 74 फीसद भारतीयों ने प्रधानमंत्री की स्वीकार्यता के पक्ष में खड़े थे, वहीं 19 मई को यह संख्या 8 फीसद बढ़कर 82 फीसद तक पहुंच गई है। इस फेहरिस्त में दूसरे स्थान पर ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन और तीसरे स्थान पर जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल हैं। वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पांचवें स्थान पर हैं।

Posted By: Sanjay Pokhriyal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस