Move to Jagran APP

पीएम मोदी और मेलोनी के वायरल मीम्स पर प्रियंका चतुर्वेदी ने दी प्रतिक्रिया, जानिए क्यों कहा बेहद शर्मनाक

लोकसभा चुनाव रिजल्ट के बाद से ही इंटरनेट मीडिया पर हैशटैग मेलोडी के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और इटली की पीएम जॉर्जिया मेलोनी के हजारों मीम्स वायरल हैं। हालांकि यह कोई पहली बार नहीं हुआ है। इससे पहले नई दिल्ली में जी 20 सम्मेलन के दौरान भी दोनों नेताओं के मीम्स खूब वायरल हो चुके हैं। अब शिवसेना (यूबीटी) की नेता प्रियंका चतुर्वेदी ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी है।

By Jagran News Edited By: Ajay Kumar Fri, 14 Jun 2024 03:46 PM (IST)
शिवसेना (यूबीटी) राज्यसभा सांसद प्रियंका चतुर्वेदी। (फोटो- फाइल)

ऑनलाइन डेस्क, नई दिल्ली। शिवसेना (यूबीटी) राज्यसभा सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने शुक्रवार को इटली की प्रधानमंत्री जॉर्जिया मेलोनी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इंटरनेट मीडिया पर वायरल मीम्स पर अपनी प्रतिक्रिया दी। प्रियंका चतुर्वेदी ने इन मीम्स को बेहद शर्मनाक बताया। उन्होंने कहा कि यह मीम्स देश में हास्य के खराब स्तर को दर्शाते हैं।

यह भी पढ़ें: 'जब चिड़िया चुग गई खेत तो...' मोहन भागवत और इंद्रेश कुमार के बयान की टाइमिंग पर कांग्रेस नेता ने उठाए सवाल

बता दें कि पिछले साल इटली की प्रधानमंत्री जॉर्जिया मेलोनी ने दुबई में COP28 शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात की थी। जॉर्जिया मेलोनी ने पीएम मोदी के साथ अपनी सेल्फी को आधिकारिक एक्स हैंडल पर शेयर किया था। हैशटैग मेलोडी के साथ उन्होंने कैप्शन लिखा था कि सीओपी 28 में अच्छे दोस्त।

इसके बाद इंटरनेट पर लोग मेलोनी और मोदी के नाम को मिलाकर हैशटैग मेलोडी चलाने लगे। लोकसभा चुनाव परिणाम के बाद इंटरनेट पर मोदी और मेलोडी के मीम्स की बाढ़ आ गई है। इससे पहले भारत में जी 20 सम्मेलन के दौरान भी दोनों नेताओं पर खूब मीम्स बने थे।

क्या कहा प्रियंका चुतर्वेदी?

शिवसेना (यूबीटी) नेता प्रियंका चुतर्वेदी ने एक्स पर लिखा, " जॉर्जिया मेलोनी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मीम्स बहुत आगे निकल चुके हैं। यह बिल्कुल शर्मनाक है और भारत में प्रचलित हास्य के स्तर के खराब तरीके को दर्शाते हैं। बस इतना ही कह रही हूं।

इटली में हैं पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 50वें जी-7 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने इटली पहुंचे हैं। शुक्रवार को उन्होंने फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों से मुलाकात की। दोनों नेताओं ने रक्षा, परमाणु, अंतरिक्ष, शिक्षा, जलवायु कार्रवाई, डिजिटल सार्वजनिक अवसंरचना, महत्वपूर्ण प्रौद्योगिकी, संपर्क और संस्कृति के क्षेत्रों में साझेदारी को और मजबूत करने के तरीकों पर चर्चा की। इसके अलावा मुख्य वैश्विक और क्षेत्रीय मुद्दों पर भी चर्चा की। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रणधीर जायसवाल ने ट्वीट कर यह जानकारी दी।

यह भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव के बाद पहली बार RSS प्रमुख से मिल सकते हैं सीएम योगी, गोरखपुर में चल रही है संघ की बैठक